अमेरिका में शटडाउन से प्रभावित कर्मचारियों के लिए मसीहा बना सिख समुदाय

न्यूयार्कः अमेरिका में शटडाउन के चलते बगैर वेतन के घर बैठे कर्मचारियों के लिए सिख समुदाय मसीहा बनकर सामने आया है। टेक्सास के सैन एंटोनियो में सिख समुदाय ने इन बेकार सरकारी कर्मचारियों के लिए मुफ्त भोजन की व्यवस्था की। सभी कर्मचारियों को सिख समुदाय ने 11 जनवरी से तीन दिनों तक शाकाहारी भोजन कराया । सिख समुदाय के कार्यकर्ताओं ने गुरुद्वारे में मेनू तैयार किया, जिसमें दाल, सब्जियां, चावल और मैक्सिकन ब्रेड शामिल रहे।


सरकारी शटडाउन चौथे सप्ताह में प्रवेश कर चुका है। इसके चलते अब तक 8 लाख से ज्यादा कर्मचारी बगैर वेतन के काम से बाहर कर दिए गए। फेसबुक पर किया आमंत्रित शुक्रवार को एक फेसबुक पोस्ट कर शटडाउन से प्रभावित कर्मचारी और उनके परिवार को छुट्टी के दौरान भोजन के लिए सिख सेंटर में आमंत्रित किया गया। सिख समुदाय की इस मुहिम ने कई स्वयंसेवकों को भी आकर्षित किया। कई लोगों ने गुरुद्वारे में आने वाले लोगों को खाना खिलाने और खाना पकाने की पेशकश की। सैन एंटोनियो सिख सेंटर के अध्यक्ष बलविंदर ढिल्लन ने कहा, 'सिख समुदाय उन सभी कर्मचारियों का समर्थन करने के लिए है, जिनको अब तक वेतन नहीं मिला।

सिख समुदाय उनकी राष्ट्रभक्ति और सेवाओं की सराहना करता है। साथ ही उन पुरुषों और महिलाओं के प्रति आभार व्यक्त करता है।' ये सिख सेंटर सैन एंटोनियो का सबसे पुराना गुरुद्वारा है। इसे 2001 में स्थापित किया गया था। अमेरिकी इतिहास का सबसे बड़ा शटडाउन ये शटडाउन 22 दिसंबर को उस वक्त शुरू हुआ जब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मैक्सिको से लगी सीमा पर दीवार बनाने के लिए करीब 40 हजार करोड़ रुपए का बजट मांगा। लेकिन, विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी ने इसका विरोध किया। इसके बाद करीब 4 लाख कर्मचारियों को जबरन छुट्‌टी पर भेज दिया गया। साथ ही आपात सेवा से जुड़े इतने ही लोगों को बिना वेतन काम करना पड़ रहा है। यह शटडाउन अमेरिका के इतिहास का सबसे बड़ा है। इससे पहले 1995 में भी 16 दिसंबर से 6 जनवरी 1996 के बीच 21 दिन तक सरकारी काम ठप्प रहा था।

Related Stories:

RELATED तोड़े जाएंगे चार कम्युनिटी सैंटर, 15 करोड़ रुपए से नए बनेंगे