पंजाब का आतंकवाद से अधिक नुक्सान बादल परिवार ने किया: धर्मसोत

गांव छपार /लुधियाना, (संजय गर्ग) : पंजाब सरकार के वन एवं वन्य जीव सुरक्षा संबंधी विभागों के कैबिनेट मंत्री साधू सिंह धर्मसोत ने पिछली अकाली-भाजपा गठजोड़ सरकार पर पंजाब को हर पक्ष से कंगाल करने का दोष लगाते हुए कहा है कि इस सरकार का नेतृत्व करने वाले बादल परिवार ने पंजाब का सबसे अधिक नुकसान किया है। वह आज गाँव छपार में ऐतिहासिक मेले के दौरान कांग्रेस पार्टी की विशाल कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।

धर्मसोत ने कहा कि आज से 10 साल पहले इतिहास की बातें हुआ करती थीं कि पंजाब का सबसे अधिक नुकसान आतंकवाद ने किया, परन्तु अकाली-भाजपा गठजोड़ की सरकार द्वारा अपने शासनकाल के दौरान पंजाब को लूटने और पंजाबियों को पीटने के घटनाक्रमों से यह इतिहास अब बदल गया है।

अब लोग अपने आप कहने लगे हैं कि भविष्य में जब पंजाब को हर पक्ष से नुकसान पहुँचाने वालों का जि़क्र हुआ करेगा तो बादल परिवार का नाम सबसे पहले आया करेगा। धर्मसोत ने कहा कि बादल परिवार के नेतृत्व वाली सरकार ने जहाँ नौजवानों को नशों की दलदल में धकेल कर राज्य के सुनहरी भविष्य को तार-तार करने की कोशिश की, वहीं बादल परिवार ने पंजाब के कुदरती संसाधनों और हरेक कारोबार को लूटा। नतीजतन पंजाब की हर पक्ष से कमर टूट गई।

उन्होंने कहा कि पंजाब में काली रातों का दौर लाने में शिरोमणी अकाली दल का बड़ा हाथ था, जिसको पंजाब के स्व. मुख्यमंत्री बेअंत सिंह ने फिर सुनहरी दिनों में बदलने की सफल कोशिश की। जब-जब भी पंजाब और पंजाबियों पर मुसीबत आई तो बादल परिवार ने मौकाप्रस्ती का प्रदर्शन करते हुए अपने निजी हितों को बचाने को पहल दी परन्तु कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने हमेशा राज्य और लोगों के हितों को सुरक्षित किया।

उन्होंने दावे के साथ कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली मौजूदा पंजाब सरकार ने न केवल पिछली सभी लोकहित योजनाओं को चालू रखने के साथ-साथ विस्तार किया है बल्कि इन सहूलितों के अंतर्गत मिलने वाली आर्थिक राशि में भी विस्तार किया है। कॉन्फ्रेंस को संबोधन करते हुए लोकसभा मैंबर रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी और बरगाड़ी घटना के दोषियों को पंजाब सरकार द्वारा निश्चत तौर पर जेल में भेजा जायेगा। उन्होंने लोगों को भरोसा दिया कि कैप्टन सरकार द्वारा इस मामले की पैरवी बहुत ही बहादुरी और गंभीरता से की जा रही है। 

Related Stories:

RELATED दिन ढलते ही घरों में सिमट जाती है ‘टापू’ के लोगों की जिंदगी