चुनाव आयोग के फैसले को चुनौती देने सुप्रीम कोर्ट पहुंचे तेजबहादुर यादव

रेवाड़ी: लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी सीट पर चैलेंज करने के लिए समाजवादी पार्टी की टिकट पर मैदान में आए तेजबहादुर यादव ने सुप्रीम कोर्ट की शरण ली है। तेजबहादुर ने कोर्ट में चुनाव आयोग के फैसले को चुनौती दी है, जिसमें तेज बहादुर द्वारा जानकारी छिपाने के आरोप में कार्रवाई करते हुए निर्वाचन अधिकारी ने उनका नामांकन रद्द कर दिया था, चुनाव आयोग के इसी फैसले चलते उन्होंने चुनौती दी है।

हरियाणा के रेवाड़ी जिले के रहने वाले तेज बहादुर भारतीय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में कार्यरत थे। उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर सैनिकों को दिए जाने वाले खाने पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि सैनिकों को अच्छा खाना नहीं दिया जाता। इसके बाद से वे चर्चा में आ गए थे और बीएसएफ ने उन्हें बर्खास्त कर दिया था। 

पिछले दिनों तेज बहादुर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वारणसी से नामांकन किया था। इसके बाद समाजवादी पार्ट ने उन्हें अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया था। तेज बहादुर ने दो नामांकन दाखिल किए थे। दोनों नामांकन में उन्होंने अलग-अलग जानकारी दी थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने उनके नामाकंन को रद्द कर दिया था। 

Related Stories:

RELATED उच्चतम न्यायालय ने किया महाराष्ट्र में पीजी मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश संबंधी आदेश में सुधार से इंकार