तेज प्रताप ने राजद की महत्वपूर्ण बैठक से बनाई दूरी, चर्चाओं का बाजार गर्म

पटनाः मंगलवार को बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद की महत्वपूर्ण बैठक पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर बुलाई गई। पार्टी की यह बैठक सुर्खियां बटोर रही है और इन चर्चाओं का कारण लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव हैं। तेज प्रताप ने पार्टी की इस अहम बैठक से दूरी बनाकर रखी और वह इसमें शामिल नहीं हुए। 

तेज प्रताप के बैठक में शामिल ना होने से बिहार की राजनीति में सत्तापक्ष और विपक्ष के नेताओं के बीच बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। बैठक में राबड़ी देवी, राजद अध्यक्ष लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सहित सभी नेता उपस्थित थे। ऐसा पहली बार हुआ है कि तेज प्रताप यादव पार्टी की किसी महत्वपूर्ण बैठक में शामिल नहीं हुए हैं।

इस पर राजद नेता शिवानंद तिवारी ने सफाई पेश करते हुए कहा कि तेजप्रताप और तेजस्वी में सब कुछ ठीक है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी पार्टी की बैठक में थे और तेज प्रताप राजद के छात्र नेताओं को पैदल मार्च के लिए सिताबदियारा को रवाना कर रहे थे, इसलिए वह बैठक में नहीं आ सके। राजद की सहयोगी पार्टी कांग्रेस ने भी इस पर बयान जारी करते हुए कहा कि दोनों भाइयों में सब कुछ ठीक है। 

बता दें कि पहले राजद के छात्र नेताओं के पैदल मार्च को तेजस्वी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना करना था लेकिन तेजस्वी के ऐसा ना करने पर तेजप्रताप को ही इस मार्च को रवाना करना पड़ा। पार्टी की इस बैठक में 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर चर्चा की गई।   

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!