‘भविष्य की नींव तैयार करने में शिक्षकों की भूमिका अद्वितीय’

नई दिल्ली :भविष्य की नींव तैयार करने में शिक्षकों की भूमिका अद्वितीय है क्योंकि एक शिक्षक अनंत काल को प्रभावित करता है। एक रोल मॉडल के रूप में शिक्षक छात्रों पर लंबे समय तक प्रभाव डालते हैं। 

शिक्षकों को सिस्टम की चुनौतियों का सामना करने के लिए सक्षम होना चाहिए। यह बात मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने सीबीएसई शिक्षक पुरस्कार 2017-18 वितरण समारोह में कहीं। इस अवसर पर उन्होंने देशभर से 37 शिक्षकों व प्रिंसिपलों को सम्मानित किया। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से वसंत कुंज स्थित सीआरपीएफ इंस्टीट्यूट में आयोजित इस समारोह में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री ने शिक्षकों के कार्यों व योगदान की सराहना की। इस मौके पर सीबीएसई अध्यक्ष अनीता करवाल ने कहा कि सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के शिक्षकों को वर्ष में पांच दिन शारीरिक, स्वास्थ्य शिक्षा, कौशल शिक्षा के लिए अनिवार्य टीचर ट्रेनिंग दी जाएगी। इस समारोह में दिल्ली से सबसे अधिक 9 शिक्षकों को पुरस्कृत किया गया। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED शिक्षकों के लिए 17 हजार पदों पर बंपर वैकेंसी, ऑनलाइन ऐसे करें आवेदन