शिक्षक दिवस : भेदभाव पूर्ण नीतियों को लेकर देश के 60,000 स्कूलों ने मनाया काला दिवस

नई दिल्ली : शिक्षक दिवस पर देश भर के 60,000 से ज्यादा स्कूलों ने शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों और स्कूल प्रबंधन की सुरक्षा के संबंध में कथित भेदभावपूर्ण नीतियों के खिलाफ बुधवार को काला दिवस मनाया।      

कम फीस वाले निजी स्कूलों के एसोसिएशनों के राष्ट्रीय फेडरेशन, नेशनल इंडिपेंडेंट स्कूल्स एलायंस (एनआईएसए) की ओर से जारी बयान के अनुसार, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, असम, नगालैंड, राजस्थान, गुजरात, कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, केरल और तमिलनाडु के स्कूलों ने इसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।     

बयान के अनुसार, स्कूलों में सभी शिक्षकों और कर्मचारियों ने काली पट्टी पहनी हुई थी और बसों पर भी काले झंडे लगाये गये थे।  बयान में आरोप लगाया गया है कि सुरक्षा के नाम पर कई स्कूल बंद कर दिये गये हैं और कई शिक्षक, ड्राइवर और स्कूल प्रबंधन के कर्मचारी जेलों में बंद हैं। एसोसिएशन की मांग है कि दुर्घटनाओं के लिए प्रबंधन और प्रधानाध्यापकों को सजा नहीं मिलनी चाहिए। विस्तृत जांच के बिना कोई गिरफ्तारी या स्कूल को बंद नहीं किया जाना चाहिए।     
 

Related Stories:

RELATED इन 11 तरीकों से Children day को बनाएं खास