आवारा कुत्तों के लिए खुला टाटा ग्रुप के घर का दरवाजा

नेशनल डेस्क: टाटा ग्रुप के बॉम्बे हाउस ने आवारा कुत्तों के लिए अपने दरवाजे खोल दिए हैं। 29 जुलाई टाटा के लिए एक खास दिन था। 9 म​हीने तक हुए लंबे नवीकरण के बाद टाटा ग्रुप ने बॉम्बे हाउस का एक कमरा कुत्तों के लिए सौंप दिया है। इसे अभी तक वैश्विक मुख्यालय का दर्जा प्राप्त था। 94 वर्ष पूरानी धरोहर इमारत का नवीकरण हुआ और इतिहास में पहली बार इसे सजाया गया।

JRD टाटा की 114वीं जयंती के दिन कार्यालय का उद्घाटन किया गया। लेकिन यह सब कुछ समान्य नहीं था। ये स्थान न सिर्फ कर्मचारियों के लिए विषेश है बल्कि कुतों के लिए भी इसके दरवाजे खोले गए हैं। यहां कुतों के लिए एक खास कमरा बनाया गया है। ये तो हम सभी जानते हैं कि सड़​कों में आवारा कुत्ते कैसे रहते हैं लेकिन अब वह इस कमरें में रहेंगे जहां उन्हे पर्याप्त सुविधाएं मिलेंगी। यहां कुत्तों के लिए खाना, पानी, धूप, बारिश से बचने का इंतजाम किया गया है।

एक पशु प्रेमी NGO ने फेसबुक पर नवनिर्मित कमरे की तस्वीर शेयर की है। जिसमें लिखा है कि आवारा कुत्तों को बचाएं। शेयर की गई इस तस्वीर में एक रंगदार कमरे में आवारा कुत्ते बैठे दिखाई दे रहे हैं। टाटा ग्रुप के इस कदम की काफी सराहना की जा रही है। सेशल मीडिया पर हजारों लोग इस तस्वीर को शेयर कर चुके हैं। एक यूजर ने लिखा कि यह एक शानदार कदम है ​इससे अन्य लोगों को भी आवारा कुत्तों की मदद करने की प्रेरणा मिलेगी। बता दें कि रतन टाटा को कुत्तों से लगाव है। उन्होंने ही यह आदेश दिया था कि कुत्तों को परिसर में ही रहने दिया जाए।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!