अक्टूबर से फ्लाइट में मोबाइल-इंटरनेट का ले मजा, जानें नियम और चार्ज

PunjabKesariनई दिल्लीः आने वाले दिनों में हवाई सफर के दौरान आप फोन और इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। 'इन फ्लाइट कनेक्टिविटी' (IFC) नाम की इस सर्विस को दूरसंचार विभाग अक्टूबर से शुरू करने वाला है। इस सर्विस के शुरू होते ही एयरलाइंस के साथ-साथ आपकी जेब पर भी असर पड़ेगा। 

एविएशन एक्सपर्ट के मुताबिक, IFC फीचर से विमान को लेस करवाने के लिए एयरलाइंस को प्रति विमान पर 7 करोड़ 21 लाख रुपए खर्च करने होंगे। यह खर्च प्लेन के प्रकार, साइज आदि पर भी निर्भर करेगा। 

PunjabKesariयात्रियों को कितना होगा खर्च
एयरलाइंस द्वारा होने वाला यह खर्च स्वाभाविक तौर पर यात्रियों पर भी पड़ेगा। शुरूआत में तो यह सुविधा सस्ती नहीं ही होने वाली। माना जा रहा है कि नेट कनेक्शन के लिए एयरलाइंस 500 से 1000 रुपए (30 मिनट या 1 घंटा) ले सकती हैं। हालांकि, यह सुविधा लेना वैकल्पिक होगा। यात्री चाहें तो इसे लेने से मना भी कर सकते हैं। 

PunjabKesariआगे की क्या प्लानिंग 
एविएशन एक्सपर्ट्स को लगता है कि आने वाले कुछ सालों में यह सर्विस फ्री हो सकती है लेकिन फ्री सुविधा भी बिजनेस क्लास, गोल्ड क्लास, लॉयल्टी कार्ड होल्डर या कॉर्पोरेट बुकिंग आदि वालों को ही मिलेगी। बता दें कि Emirates, JetBlue, Norwegian और Turkish airlines पहले से IFC की सर्विस फ्री में दे रही हैं। 

जहां तक भारतीय एयरलाइंस की बात है तो उनके लिए IFC का खर्च उठाना आसान नहीं होने वाला। एयर इंडिया, जेट एयरवेज के हालात पहले से ही खराब हैं। इन हालातों का जिम्मेदार बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच खुद को बचाए रखने के लिए सस्ती सर्विस मुहैया करवाने को माना जाता है। ऐसे में पैसे की किल्लत IFC सिस्टम के भी आगे आएगी। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED अब 13,499 रुपये में कीजिये दिल्ली से वाशिंगटन की यात्रा