भारत के साथ अंतरिक्ष के क्षेत्र में काम करना चाहता है ताइवान

बेंगलूरुःताइवान की अंतरिक्ष एजेंसी एनएसपीओ भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के साथ खासतौर पर बाह्य अंतरिक्ष क्षेत्रों और अप्रत्याशित मौसमी घटनाओं का पता लगाने के लिए काम करने की इच्छुक है। इसके अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

नेशनल स्पेस ऑर्गनाइजेशन (एनएसपीओ) के फार्मोसैट-7 कार्यक्रम के प्रमुख चेन-जो-फोंग ने कहा कि वह चक्रवात जैसी अप्रत्याशित मौसमी घटनाओं का पता लगाने के लिए साथ काम करने के इच्छुक हैं।  बेंगलूरु स्पेस एक्सपो 2018 से इतर एनएसपीओ और इसरो के अधिकारियों के बीच एक बैठक भी हुई जिसमें ताइवानी पक्ष ने सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया।  

चेन ने कहा, ‘‘ताइवान टाइफून के लिहाज से संवेदनशील है जबकि भारत च्रकवात का सामना करता है। हमारे पास फार्मोसैट-5 पृथ्वी निगरानी उपग्रह है। हम इस पर एंट्रिक्स के साथ के साथ काम करना चाहते हैं। एंट्रिक्स इसरो की वाणिज्यिक इकाई है। उन्होंने बताया कि साढ़े चार सौ किलोग्राम वजन वाले पृथ्वी निगरानी उपग्रह फार्मोसैट-5 को पिछले वर्ष अगस्त में प्रक्षेपित किया गया था। इसके उन्नत संस्करण फार्मोसैट-7 को प्रक्षेपित करने की योजना है। नाम गोपनीय रखने की शर्त में इसरो के एक अधिकारी ने बैठक होने की पुष्टि की है।

Related Stories:

RELATED Video: अंतरिक्ष में भारत की बड़ी कामयाबी, ISRO ने लॉन्च किया GSAT-29 सैटेलाइट