सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव

नेशनल डेस्क: 2019 लोकसभा चुनाव लड़ने की अटकलों के बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने अगला चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर दिया है। विदेश मंत्री के अनुसार, स्वास्थ्य खराब होने की वजह से उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। इंंदौर में आयोजित पत्रकार वार्ता में सुषमा स्वराज ने कहा कि चुनाव लड़ने का फैसला पार्टी करेगी। वहीं, इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की जमकर तारीफ की और कहा कि हमारी केंद्र और राज्य, दोनों जगह सरकारें बहुत अच्छा काम कर रही हैं। इस दौरान 33 करोड़ से ज्यादा जनधन खाते खुले हैं। हमारे सामने विपक्ष में कोई विकल्प नहीं है। गठबंधन का कोई नेता नहीं है। 


 

डॉक्टरों ने दी धूल से बचने की हिदायत
भाजपा की 66 वर्षीय नेता ने कहा, ''विदिशा से वर्ष 2009 में लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद मैं सदन की नेता प्रतिपक्ष और इसके पश्चात विदेश मंत्री के अहम पदों पर आसीन होने के बावजूद आठ साल तक अपनी संसदीय सीट के आठों विधानसभा क्षेत्रों में हर महीने नियमित तौर पर जाती थी। लेकिन दिसंबर 2016 में किडनी प्रतिरोपण के बाद मुझे डॉक्टरों ने धूल से बचने की हिदायत दी है। इस कारण मैं पिछले एक साल से चुनावी सभाओं में भी भाग नहीं ले पा रही हूं। मैं स्वास्थ्य कारणों से खुले स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो सकती हूँ। मैं बंद सभागारों में ही कार्यक्रम कर सकती हूं। मैंने अपने नेतृत्व से भी कहा है कि अपने स्वास्थ्य की मर्यादा को देखते हुए मुझे धूल से बचना है।''      
 

विदिशा में लगे थे सुषमा की गुमशुदगी के पोस्टर  
स्वराज ने कहा, ''मैं विदेश तो जा सकती हूं। लेकिन धूल से बचने की डॉक्टरी हिदायत के कारण गुजरे अरसे में विदिशा नहीं जा सकी, क्योंकि कुछेक कस्बों को छोड़कर मेरा पूरा संसदीय क्षेत्र देहाती है।'' गुजरे अरसे में विदिशा क्षेत्र में स्वराज के नहीं पहुंचने पर नाराज लोगों ने लोकसभा सांसद को 'गुमशुदा' बताते हुए पोस्टर लगाए थे। इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''अगर मेरे विरोधी मेरे स्वास्थ्य के प्रति इस कदर संवेदहीन होकर ऐसे पोस्टर लगाते हैं, तो मुझे इस पर कुछ नहीं कहना। मेरा रिकॉर्ड मध्यप्रदेश की ऐसी लोकसभा सांसद का रहा है, जिसने अपने क्षेत्र का सबसे ज्यादा दौरा किया है। पिछले दो साल के दौरान मैं भले ही अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा नहीं कर सकी हूं। लेकिन मैंने विदिशावासियों से किये गये सारे वादे दिल्ली में बैठकर पूरे किए हैं।''


बता दें कि सुषमा स्वराज मध्य प्रदेश के विदिशा लोकसभा सीट से सांसद हैं। उनका स्वास्थ्य कई महीनों से ठीक नहीं चल रहा है, जिसके चलते वह सांसद और मंत्री के रूप में अपने काम को सही तरीके से अंजाम नहीं दे पा रही हैं। सूत्र के अनुसार, विदेश मंत्री ने अपने इस फैसले से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को भी अवगत करा दिया है।

Related Stories:

RELATED ‘नारी शक्ति कुंभ’ में बोली सुषमा स्वराज-समय बदल चुका है महिलाओं को अपनी शक्ति पहचाननी होगी