रिटायर होने से पहले राष्ट्रपति से मिले नौसेना प्रमुख सुनील लांबा

नई दिल्लीःनौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने पद छोड़ने से पहले राष्ट्रपति एवं तीनों सेनाओं के प्रमुख रामनाथ कोविंद से सोमवार को आखिरी मुलाकात की। एडमिरल लांबा नौसेना प्रमुख के तौर पर अपना तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा कर 31 मई को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

नौसेना ने एडमिरल लांबा के नेतृत्व में कई बड़ी पहलों पर काम किया, जिनमें हिन्द महासागर क्षेत्र में अपनी मौजूदगी का विस्तार करना और अपनी समग्र युद्ध क्षमता को बढ़ाना शामिल है। वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को 23 मार्च को सरकार ने अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त किया था।

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा ने अपने कनिष्ठ वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त किए जाने के फैसले को एक याचिका के जरिए चुनौती दी थी। नियुक्ति के लिए वरिष्ठता एकमात्र मापदंड न होने का हवाला देते हुए तीन दिन पहले रक्षा मंत्रालय ने इस याचिका को खारिज कर दिया था।

Related Stories:

RELATED नौसेना प्रमुख ने वर्चुअल रिएलिटी सेंटर का किया उद्घाटन