कांग्रेस दलितों को शिक्षा से वचिंत रखना चाहती है: सुखबीर बादल

जालंधरः शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने एससी पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के लिए केंद्र से प्राप्त 444 करोड़ रुपए जारी करने से इन्कार कर दलित छात्रों को शिक्षा देने से इन्कार करने के लिए कांग्रेस सरकार की खिंचाई करते हुए कहा है कि कांग्रेस को मजबूर करने के लिए शिअद राज्यव्यापी आंदोलन शुरू करेगा। बादल ने बुधवार को जिला उपाध्यक्ष कार्यालय के समक्ष आयोजित धरने को संबोधित करते हुए कहा कि यह निंदाजनक है कि सरकार ने एससी छात्रवृति योजना के लिए केन्द्र सरकार की ओर से भेजे गए सैंकड़ों करोड़ रुपए का दुरुपयोग किया है। 



उन्होंने कहा कि इस भेदभाव के परिणाम स्वरूप इस वर्ष कॉलेजों में एक लाख कम दलित छात्रों ने नामांकन किया है। धरने में अनुसूचित जाति के छात्रों और उनके माता-पिता भी शामिल थे। बादल ने कहा कि अकाली-भाजपा सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान 10 लाख से अधिक छात्रों को छात्रवृत्ति बढ़ा दी थी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार इस तथ्य के बावजूद इन्कार कर रही है कि उपयोग प्रमाणपत्र पेश करने पर केंद्र सरकार योजना के तहत अधिक धनराशि जारी करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग के छात्रों को भी इस उद्देश्य के लिए 22 करोड़ रुपए अनुदान जारी करने में असफल होने के साथ ही छात्रवृत्ति से इन्कार नहीं किया जा रहा है। धरने में बोलते हुए अनुसूचित जाति के छात्रों ने कहा कि उन्हें अकाली-भाजपा कार्यकाल के दौरान छात्रवृत्ति का लाभ उठाने में कभी भी कोई समस्या नहीं आई थी। 



उन्होंने कहा कि छात्रवृत्ति का लाभ उठाने की प्रक्रिया अगले शैक्षणिक सत्र के लिए और भी बोझिल हो गई है और ऐसा लगता है कि कांग्रेस सरकार दलितों को निरक्षर रखना चाहती है। इस बीच, शिअद अध्यक्ष ने कहा कि अगर किसी ने पंजाब में शुरू किए गए कल्याणकारी उपायों की एक सूची तैयार की है तो उन्हें पता चल जाएगा कि किसानों, दलितों, बुजुर्गों या लड़कियों को दी गई प्रत्येक सुविधा उनके द्वारा शुरू की गई थी। उन्होंने कहा कि एससी और बीसी लाभार्थियों को ‘आटा-दाल’ और वृद्धावस्था पेंशन, दलितों के लिए बिजली की दो सौ यूनिट मुफ्त देने और ‘शगुन’ योजना, सभी को अकाली भाजपा कार्यकाल के दौरान शुरू किया गया था। 



यह बताते हुए कि कांग्रेस केवल लोगों से झूठ बोल रही थी, बादल ने कहा कि हाल ही में एक बड़ा झूठ कहते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के किसानों को ऋण छूट देने का यह कहते हुए वादा किया कि कांग्रेस ने पंजाब में भी किसानों के ऋण छूट दी है। गांधी को पता होना चाहिए कि पंजाब में कांग्रेस सरकार ने 90 हजार करोड़ रुपए के ऋण छूट के वादे पर किसानों से विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि सभी कल्याणकारी योजनाओं को बंद करने के अलावा, कांग्रेस सरकार ने सरदार बादल द्वारा शुरू किए गए सेवा केंद्र और ग्रामीण मेधावी स्कूलों को भी बंद कर दिया है।

Related Stories:

RELATED कांग्रेस विधायक करन मेहरा की गाड़ी को रोकने का वीडियो वायरल, पुलिसकर्मी लाइन हाजिर