चीनी उत्पादन 15 मार्च तक 6% बढ़कर हुआ 273.47 लाख टन

बिजनेस डेस्कःदेश का चीनी उत्पादन, सितंबर 2019 को समाप्त होने वाले चालू विपणन वर्ष में 15 मार्च तक छह प्रतिशत बढ़कर 273.47 लाख टन हो गया। उद्योग के आंकड़ों के अनुसार महाराष्ट्र और कर्नाटक में अधिक उत्पादन से यह वृद्धि हुई है। इन राज्यों में चीनी मिलों ने जल्दी उत्पादन शुरू कर दिया था। भारतीय चीनी मिल संघ (इस्मा) ने एक बयान में कहा कि देश में पिछले वर्ष की इसी अवधि में 258.20 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था।

इस्मा ने कहा, वर्ष 2018-19 के दौरान 527 चीनी मिलें परिचालन में रहीं और उन्होंने अक्टूबर से 15 मार्च 2019 तक इस चीनी सत्र में 273.47 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है।Þ लगभग 154 मिलों ने पेराई बंद कर दी और 373 चीनी मिलों ने अपने पेराई कार्यों को जारी रखा हुआ है। महाराष्ट्र और कर्नाटक में चीनी मिलें तेजी से परिचालन बंद कर रही हैं और उनका पेराई सत्र बंद होने के कगार पर है। इस्मा के अनुसार, 15 मार्च तक महाराष्ट्र में चीनी का उत्पादन 100.08 लाख टन था, जबकि एक साल पहले की इसी अवधि में यह 93.84 लाख टन था।

उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन 2017-18 के विपणन वर्ष की इसी अवधि के 84.39 लाख टन की तुलना में इस बार लगभग 84.14 लाख टन का रहा। कर्नाटक में चीनी उत्पादन पहले के 35.10 लाख टन की तुलना में इस बार 42.45 लाख टन रहा। इस्मा ने इससे पहले 2018-19 में देश का चीनी उत्पादन 307 लाख टन रहने का अनुमान व्यक्त किया था जो अनुमान विपणन वर्ष 2017-18 के 325 लाख टन के हुए उत्पादन से कम था।

Related Stories:

RELATED चीनी उत्पादन बढ़कर 219 लाख टन हुआ