एसएससी और सीएचएसएल परीक्षाओं के भविष्य पर छात्र सशंकित

नई दिल्ली:कर्मचारी चयन आयोग की संयुक्त स्नातक स्तरीय भर्ती (सीजीएल) की तीसरे और संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर (सीएचएसएल) 2017 के दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों की बेचैनी बढ़ गई है।


सुप्रीम कोर्ट ने इन दोनों भर्तियों के परिणाम घोषित करने पर रोक तो लगाई ही है परीक्षा व्यवस्था को लेकर तल्ख टिप्पणी भी की है। दोनों भर्तियों में यूपी और बिहार के बीस हजार से अधिक अभ्यर्थी शामिल हुए हैं। सुप्रीम कोर्ट के रुख से अभ्यर्थी इन दोनों भर्ती परीक्षाओं के भविष्य को लेकर सशंकित हैं। तैयारी कर रहे छात्रों का कहना है कि वो तैयारी तो एसएससी की ही कर रहे हैं। लेकिन कब तक ये सिस्टम दुरुस्त हो पाएगा। सुरक्षा कारणों से ऑफलाइन से हटकर ऑनलाइन परीक्षा होने लगीं अब इसके बाद क्या हो सकता है। सीजीएल 2017 की भर्ती प्रक्रिया 16 जून 2017 को शुरू हुई थी।

Related Stories:

RELATED छात्रों को डिप्रेशन से बचाने में मदद करेगा एसओएल