दो सिर के साथ जन्‍मा ये सीरियाई बच्चा

इंटरनैशनल डेस्कःतुर्की के अंताकया में मुस्‍तफा कमाल यूनीवर्सिटी अस्‍पताल में डॉक्‍टरों ने एक दो सिर वाले बच्‍चे के दिमाग का सफल ऑपरेशन किय गया।  इस बच्‍चे का नाम अब्‍दललतीफ शेक्राक है और यह सीरियाई मूल का है। इसे एनसिफेलोसील नाम की बेहद दुर्लभ समस्‍या थी, जो 12000 में से किसी एक बच्‍चे में होती है। जब अब्‍दुललतीफ का जन्‍म हुआ तो उसका दिमाग उसकी खोपड़ी से बाहर एक झिल्‍ली में था। इससे उसके दो सिर होने का आभास हो रहा था।  

बच्‍चे की हालत देखने के बाद डॉक्‍टरों ने उसे इस्‍केनद्रुन डेवलपमेंटल अस्‍पताल में भेजने का फैसला किया। यहां दिमाग, नसों और रीढ़ की हड्डी के विशेषज्ञों ने 3 घंटे चले ऑपरेशन के बाद खोपड़ी के बाहर निकल रहे उसे दिमाग को उसके अंदर करने में सफलता पाई। एनसिफेलोसील की समस्‍या से जीवित बचने वाले बच्‍चों का आंकड़ा 5000 में एक का है। अब्‍दुललतीफ का सफल ऑपरेशन करने वाले डॉक्‍टर मेहमत कोपरान का कहना है कि एनसिफेलोसील की इतनी गंभीर समस्‍या बच्चे के लिए जानलेवा हो सकती थी। उसे 3 दर्जे की बीमारी थी, जो बेहद गंभीर मानी जाती है और यह बहुत कम होती है।

क्‍या होती है एनसिफेलोसील बीमारी 
यह बेहद दुर्लभ किस्‍म की जन्‍मजात समस्‍या है, जिसमें बच्‍चे के दिमाग का एक हिस्‍सा उसकी खोपड़ी से बाहर निकला रहता है। सिर के पिछले हिस्‍से में एक झिल्‍ली में दिमाग बाहर की ओर होता है। यह समस्‍या 12000 में से किसी एक बच्‍चे में होती है। कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक यह समस्‍या गर्भ में पल रहे शिशु में विटामिन डी और फोलिक एसिड की कमी से होती है। यह जानकारी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने दी है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!