जीएसटी का लाभ ग्राहकों को नहीं दे रहे स्टारबक्स को हो सकता है जुर्माना

मुंबई: अमेरिकी कॉफी चेन स्टारबक्स पर एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी जुर्माना लगा सकता है। एएनएन ने कंपनी पर आरोप लगाया है, कि उसने जीएसटी की दरों में कमी का फायदा अपने ग्राहकों को नहीं दिया। टैक्स अथॉरिटीज ने स्टारबक्स से उसके प्रॉडक्ट्स के दाम में कटौती के बारे में कुछ सवाल पूछे है, और डेटा के लिए लेटर्स(पत्र) के दो सेट जारी किए है। दिग्गज अमेरिकी कॉफी कंपनी इंडिया में टाटा ग्रुप के साथ मिलकर बनाए गए ज्वाइंट वेंचर टाटा स्टारबक्स के तहत कारोबार करती है।

सूत्रों ने बताया कि स्टारबक्स ने जीएसटी रेट 18 प्रतीशत से घटाकर 5 प्रतीशत किए जाने के बावजूद प्रॉडक्ट्स के दाम नहीं घटाए थे। नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी (एनएए) को दिए जवाब में स्टारबक्स ने प्राइस और कॉस्ट की तफसील से जानकारी दी थी। स्टारबक्स और कई दूसरे कॉफी शॉप्स खुद को रेस्टोरेंट्स के बजाय क्विक सर्विस ज्वाइंट बताती हैं। हालांकि जीएसटी फ्रेमवर्क में दोनों पर एक बराबर टैक्स लगाया गया है। रेस्टोरेंट्स के लिए पहले 18 प्रतीशत टैक्स रेट तय किया गया था, जिसे 2018 की शुरुआत में घटाकर 5 प्रतीशत कर दिया गया। इसमें एक शर्ताें जोड़ा गया था।

Related Stories:

RELATED अमेरिका की स्टारबक्स कंपनी ने कम्पोस्टेबल कपों के लिए परीक्षणों की घोषणा की