सड़क के बीचों-बीच ‘मौत’ बनकर खड़े बिजली के खंभे

रेवाड़ी (महेंद्र भारती):हरियाणा में पीडब्लूडी विभाग के अधिकारियों द्वारा की गई लापरवाही के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे। पीडब्लूडी विभाग के अधिकारी कभी पेड़ों के बीचों-बीच सड़क बना देते है तो कभी बिजली के खंभों को विभाग द्वारा बनाई जानी वाली सड़क के बीच में ले लेते है। ऐसे में अधिकारी ऐसे कारनामें करने से पहले जरा सा भी नहीं सोचते कि ये राहगीरों के लिए मुसीबत बन सकते है या उनकी इतनी बड़ी लापरवाही से किसी की जान जा सकती है।



बता दें कि मामला रेवाड़ी के गढ़ी बोलनी रोड का है जहां डेढ़ वर्ष पहले पीडब्लूडी विभाग द्वारा दर्जनों गांवों को जोड़ने के लिए करीब डेढ़ किलोमीटर लंबा एक अप्रोच रोड बनाया गया था। जिसके बीच में लगभग आधा दर्जन बिजली के खंबे आते है लेकिन ठेकेदार ने सड़क बनाने के जल्दी में बिजली के खंभो बिना शिफ्ट किए उसी स्थिति में सड़क बना दी। जिससे लोगों काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं।



वहीं मामले में सड़क बनाने वाले विभाग मार्केटिंग कमेटी के सचिव का कहना है कि वह भी इन खम्भों को दुरुस्त करवाना चाहते है। लेकिन बिजली विभाग द्वारा बनाया गया 4 खंभों का एस्टीमेट मार्केटिंग विभाग को ज्यादा लग रहा है। उनकी माने तो बिजली विभाग इस एस्टीमेट को ठीक करें तो वह पैसा भरने को तैयार है।



लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों का तो कहना है कि उनके अनुसार 4 नहीं बल्कि 8 पोल सड़क पर है। जिसका खर्चा एक लाख 18 हजार रुपये है जो मार्केटिंग कमेटी को बनाकर भेज दिया है। मार्केटिंग कमेटी को यह खर्चा ज्यादा लग रहा है तो वह ठेकेदार से अपने खर्चे पर काम करवा सकता है। जिसकी परमिशन बिजली विभाग देने को तैयार है। ऐसे में मार्केटिंग कमेटी के सचिव का कहना है कि दोनों ही सूरत में खर्चा तो मार्केटिंग कमेटी को ही देना पड़ेगा।



वहीं पूरे मामले में देखने वाली बात ये है कि दोनों ही विभाग अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का ठीकरा एक दूसरे के सिर फोड़ रहें है। लेकिन दोनों विभागों की लापरवाही के बीच दिक्कतों का सामना आमजन को करना पड़ रहा है। जिसके चलते आये दिन वाहन चालकों को हादसों से दो-चार होना पड़ रहा है।

Related Stories:

RELATED बिजली के खम्भे से गिरने से मैकेनिक की मौत