श्रीलंकाः 8 सीरियल ब्लास्ट में अब तक 190 की मौत व 500 घायल, 7 संदिग्ध गिरफ्तार (VIDEO)

कोलंबोः श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में 3 चर्च, 4 होटलों व एक जू में  हुए 8 सीरियल ब्लास्ट में कम से कम 190 लोगों की मौत हो गई।  पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि धमाकों में 500 से अधिक लोग घायल हो गए हैं।  जानकारी के अनुसार  3 चर्च व 3 होटलों  धमाके सुबह हुए जबकि 2 धमाके  एक होटल व जू में दोपहर के समय हुए जिनमें 2 लोगों की मौत की खबर है।  आठवां विस्फोट आत्मघाती था जिसमें 3 लोग मारे गए।  इन सिलसिलेवार धमाकों के बाद शहर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। श्रीलंका में रविवार शाम 6 बजे से लेकर सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसके साथ सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप व टिवटर आदि को अनिशिचतकाल के लिए ब्लॉक कर दिया गया है। देर शाम मिली जानकारी के अनुसार हमलों के एक आरोपी जहरन हाशमी  सहित 7 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 




घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य जारी है।  इन हमलों में 35 से अधिक विदेशियों के मारे जाने की खबर है। कोलंबो अस्पताल ने 9 विदेशी नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि की है।  एक विस्फोट राजधानी कोलंबों के कोचचिकड़े में स्थित सेंट एंथोनी चर्च में हुआ। वहीं दूसरा धमाका कटाना के कटुवापिटीया चर्च में हुआ। पुलिस ने राजधानी के शंगरी-ला होटल और किंग्सबरी होटल में भी विस्फोट की सूचना दी है।  

 

पुलिस प्रवक्ता रूवन गुनासेकेरा ने बताया कि यह विस्फोट स्थानीय समयानुसार 8 बजकर 45 मिनट पर ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान रविवार को हुआ। धमाकोें में मृतकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस बीच प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने आपात बैठक बुलाई है। श्रीलंका के इकोनॉमिक रिफॉर्म्स एंड पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन मिनिस्टर हर्षा डिसिल्वा ने कहा कि भयानक दृश्य।


आपातकालीन दल पूरी ताकत से सभी स्थानों पर हैं। वहीं सेना ने 200 सैनिकों को इलाके में तैनात कर दिया है। कटुवापितियूत्या के सेंट सेबास्टियन चर्च से किए गए एक फेसबुक पोस्ट में लिखा गया, ‘‘ हमारे गिरजाघर पर बम हमला , कृपया आएं और मदद करें।  धमाका उस वक्त हुआ जब चर्च में ईस्‍टर की प्रार्थनासभा चल रही थी।



श्रीलंकाई रिपोर्ट्स के मुताबिक, बट्टिकलोबा, नैगोंबो, कोलंबो के चर्च और होटल शांगरी ला समेत 6 जगहों पर ब्लास्ट हुआ. जिसमें 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, हालांकि घायलों और मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। किसी आतंकी संगठन ने अभी तक कोलंबो बम धमाकों की जिम्मेदारी नहीं ली है। 

श्रीलंका के वित्त मंत्री मंगला समरवीरा ने ट्वीट किया, ‘‘चर्चों और होटलों में ईस्टर संडे बम धमाकों में निर्दोष लोग मारे गए हैं और ऐसा लगता है कि अराजकता फैलाने के लिए इसे बहुत व्यवस्थित तरीके से अंजाम दिया गया है।'' श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति और विपक्षी नेता महिंदा राजपक्षे ने धमाकों की निंदा करते हुए इसे अमानवीय करार दिया है। गौरतलब है कि ईसाई धर्म की मान्यताओं के अनुसार, गुड फ्राइडे के तीसरे दिन ईसा मसीह दोबारा जीवित हो गए थे, जिसे ईसाई धर्म के लोग ईस्टर संडे के नाम से मनाते हैं। कोलंबो के स्कूलों में 2 दिन का अवकाश घोषित किया गया है।

 

Related Stories:

RELATED श्रीलंका सीरियल धमाकों में 200 बच्चों ने खोए पारिवारिक सदस्य