स्पाइस जेट बनी कार्गो विमान सेवा शुरू करने वाली पहली एयरलाइंस कंपनी

नई दिल्लीः किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट ने आज अपनी मालवाहक विमान सेवा ‘स्पाइस एक्सप्रेस’ शुरू करने की घोषणा की। स्पाइस एक्सप्रेस की सेवा 18 सितंबर से शुरू होगी। कंपनी ने फिलहाल इसके लिए एक बोइंग 737-700 विमान लीज पर लिया है तथा इस साल के अंत तक तीन और विमान उसके मालवाहक बेड़े में शामिल किए जाएंगे। 

कार्गो सर्विस शुरू करने वाली पहली एयरलाइन बनी SpiceJet
स्पाइसजेट वर्तमान समय में नियमित यात्री विमान सेवा देने वाली देश की एक मात्र कंपनी है जो मालवाहन विमान सेवा शुरू कर रही है। इससे पहले सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया ने एयर इंडिया कार्गो की स्थापना की थी लेकिन वर्ष 2012 से उसका परिचालन बंद है। हालांकि, यात्री विमानों की ‘बेली’ में भी सामान के लिए जगह होती है, जिसका इस्तेमाल मालवाहन के लिए किया जाता है।

सरकार बना रही एक नई कार्गो नीति 
नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर स्पाइसजेट की ओर से आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में हवाई मार्ग से मालवाहन (कार्गो) के लिए काफी संभावनाएं हैं। यह नई शुरूआत है जिससे कार्गो के क्षेत्र की विकास की रफ्तार बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि कार्गो और लॉजिस्टिक्स देश की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए महत्त्वपूर्ण हैं। सरकार एक नई कार्गो नीति बना रही है जिसमें बहुआयामी लॉजिस्टिक समाधान ढूंढऩे का प्रयास किया जाएगा। मालवाहक विमान सेवा उसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा। 

सिन्हा ने कहा कि पूर्वोत्तर भारत से अनन्नास, अनन्नास केक, अनन्नास आइसक्रीम, ऑर्चिड जैसे उत्पादों की हवाई मार्ग से डिलिवरी कर उन्हें खराब होने से पहले गंतव्य तक पहुंचाया जा सकता है। नोएडा में बन रहे जेवर हवाई अड्डे के भी बड़े हिस्से में कार्गो की सुविधा होगी। वहां से मोबाइल तथा अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामानों का निर्यात भारी मात्रा में होने की संभावना है। नागरिक उड्डयन सचिव राजीव नयन चौबे ने कहा कि स्पाइसजेट की इस पहल के बाद अन्य विमान सेवा कंपनियां भी मालवाहक विमान सेवा क्षेत्र में उतरेंगी। 
 

Related Stories:

RELATED Air India की फ्लाइट में बुजुर्ग महिला के सामने यात्री ने की अश्लील हरकत, मंत्री ने मांगी रिपोर्ट