Kundli Tv- इस Special विधि से करें शनि देव की पूजा

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें Video)
शनि देव जी की पूजा के साथ वैसे तो कई देवी-देवताओं की पूजा का विधान है। कहा जाता है कि इनकी पूजा करना बहुत लाभकारी माना जाता है। लेकिन इनकी पूजा करते समय कुछ सावधानियां बरतनी बहुत ज़रूरी मानी जाती है। कहते हैं कि अगर इनकी पूजा के दौरान कुछ भूल-चूक हो जाए तो व्यक्ति पर इसका बहुत बुरा असर पड़ता है। कहते हैं कि इनकी पूजा से कुंडली में मौज़ूद सभी दोष खत्म हो जाते हैं। तो आइए जानते हैं कि इनकी पूजा में किस तरह की सावधानी रखने से इनके कुप्रभाव से बचा जा सकता है।
PunjabKesari
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सुबह स्नान करके एक लकड़ी की चौकी पर ‌काला वस्‍त्र बिछाकर शनिदेव की प्रतिमा या सुपारी रखें और उसके दोनों तरफ घी और तेल का दीपक जलाकर धूप जलाएं। शनिदेव की प्रतिमा को भी पंचामृत से स्नान करवाएं। इसके बाद अबीर, काजल, कुमकुम आदि लगाकर नीले रंग के फूल अर्पित करें। प्रसाद में इमरती या फिर तेल में तली वस्तुओं को चढ़ाएं। इसके बाद फल अर्पित करके एक बार शनि मंत्र का जाप करें और फिर शनि चालीसा का पाठ करके आरती करें।
PunjabKesari
मान्यता है कि इनकी पूजा करने से पहले कई ज़रूरी बातों पर ध्यान देना ज़रूरी होता है, नहीं तो पूरे ‌विधि-विधान से की गई पूजा भी फल नहीं देती। 

शनि देव की पूजा करने के दिन सूर्योदय से पहले शरीर पर तेल मालिश करके स्नान करना चाहिए।

शनि मंदिर के साथ-साथ हनुमान जी के दर्शन करना ना भूलें।

शनि जयंती और शनि पूजा के दिन ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।
PunjabKesari
अगर इस दिन आपकी किसी यात्रा का कार्यक्रम निर्धारित है तो उसे स्‍थगित कर दें।

किसी जरूरतमंद गरीब व्यक्ति को तेल में बने पकवान ‌खिलाएं।

शनिदेव की प्रतिमा या तस्वीर को देखते समय उनकी आंखो में नहीं देखना चाहिए।
गुरुवार को करें ये टोटका, हमेशा हासिल होगी जीत (देखें Video)

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!