1 अरब भारतीयों की निजी जानकारी दांव पर, आधार कार्ड का सॉफ्टवेयर हुआ हैकः Report

बिजनेस डेस्कः आधार कार्ड की सुरक्षा को लेकर भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) लगातार लोगों के मन में चल रही चिंता को दूर करने में जुटा हुआ है। लेकिन इसी बीच एक रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि आधार के सॉफ्टवेयर को हैक कर लिया गया है, जिससे भारत के करीब एक अरब लोगों की निजी जानकारी दांव पर लग गई है।



सॉफ्टवेयर की कीमत 2,500 रुपये
हफिंग्टनपोस्ट डॉट इन ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि आधार कार्ड का सॉफ्टवेयर हैक किया जा चुका है। इसमें कहा गया है कि आधार कार्ड के सॉफ्टवेयर में एक गड़बड़ी है, जिससे एक सॉफ्टवेयर के जरिए दुनिया के किसी भी कोने में बैठा व्यक्ति किसी के भी नाम से वास्तविक आधार कार्ड बना सकता है। इस सॉफ्टवेयर की कीमत सिर्फ 2,500 रुपये है।



कांग्रेस ने किया ट्वीट
हफिंग्टनपोस्ट डॉट इन की इस रिपोर्ट को तैयार करने में दुनियाभर के 5 एक्सपर्ट की मदद ली गई है। दरअसल, इस सॉफ्टवेयर की मदद से आधार के सिक्योरिटी फीचर को बंद किया जा सकता है और नया आधार तैयार किया जा सकता है। यह सॉफ्टवेयर 2,500 रुपये में वॉट्सऐप पर बेचा जा रहा है। साथ ही, यूट्यूब पर भी कई वीडियो मौजूद हैं, जिनमें एक कोड के जरिए किसी के भी आधार कार्ड से छेड़छाड़ हो सकती है और नया आधार कार्ड बनाया जा सकता है। वहीं, इस मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने इस रिपोर्ट को ट्वीट भी किया है।

Related Stories:

RELATED आपका ''आधार'' पूरी तरह सुरक्षित, UIDAI ने हैक की खबरों को किया खारिज