स्मृति का मानव संसाधन मंत्रालय में अब भी हस्तक्षेप?

नेशनल डेस्कः मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मंत्री पद पर 26 माह बैठाए रखने के बाद 5 जुलाई, 2016 को हटाकर कपड़ा मंत्री बना दी गई मैडम स्मृति जुबिन ईरानी अपने बाद प्रकाश जावड़ेकर के मानव संसाधन विकास मंत्री का पद ग्रहण करने के समय उपस्थित नहीं रहीं। कह दिया गया कि पारिवारिक कारणों से नहीं पहुंच पाईं। मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार इतने बड़े व पावरफुल मंत्रालय से हटा दिए जाने के बाद भी मैडम का मन मानव संसाधन विकास मंत्रालय की चिंता में ही लगा रहता है। उनका यहां जो जलवा रहा, वह अन्य किसी मंत्रालय में नहीं बन पाया, सूचना प्रसारण मंत्रालय में भी नहीं। वहां जलवा बनाने की कोशिश उनके लिए जलजला साबित हो गया। तो वहां से भी 14 मई, 2018 को हटा दी गईं।


कपड़ा मंत्रालय तो सूखा है, वहां जलवा बन नहीं पा रहा है। सूत्रों का कहना है कि अपने पहले पहल मिले सबसे बड़े मंत्रालय को स्मृति विस्मृत नहीं कर पा रही हैं। प्रकाश जावड़ेकर को अरुणाचल व कर्नाटक का प्रभार रहा है। वह विधानसभा चुनावों में वहां अति व्यस्त रहे। सूत्रों का कहना है कि उस दौरान मैडम ने अपने कई चहेते अफसरों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय में नियुक्त करवा दिया और प्रकाश जावड़ेकर के विश्वसनीय अफसरों को वहां से हटवा दिया जिस कारण कई माह तक प्रकाश जावड़ेकर को बहुत परेशानी हुई। परीक्षा में गड़बड़ी व अन्य कई विवादों में उन्हीं दिनों मानव संसाधन विकास मंत्रालय मीडिया में सुर्खियों में लगातार आया।

Related Stories:

RELATED ऑफ द रिकॉर्डः बच्चों के लिए मोदी का मिड-डे मील उपहार