KundliTv- देव-दैत्य गुरु ने बदले मिजाज, कुछ ऐसा रहेगा प्रभाव

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)



आषाढ़ का महीना आरंभ हो गया है। शुभ कामों पर लगी रोक समाप्त हो गई है। देव गुरु बृहस्पति 10 जुलाई से मार्गी हो जाएंगे। एक से दो होने के सभी योग खुल जाएंगे शादी ,रिश्ता जोड़ने, रोका आदि के शुभ मुहूर्त खुलेंगे लेकिन ये मौका केवल 13 दिन तक मिलेगा। आपको बता दें गुरु तुला राशि में 9 मार्च से वक्री चल रहे हैं। उनकी उल्टी चाल होने से शादी में रुकावटें चल रही थी। 23 जुलाई को देवशयनी एकादशी है। श्री हरि विष्णु देव 4 महीने के लिए पाताल लोक में विश्राम के लिए जाएंगे। जिससे चातुर्मास का आरंभ हो जाएगा। इस दौरान शुभ कामों से लेकर विवाह तक पर रोक लग जाती है।




सोमवार, 19  नवंबर को देव जागेंगे। भगवान शालीग्राम और तुलसी के विवाह बंधन में बंधने के बाद शादियां शुरू होंगी। 19  और 20  नवम्बर को अबूझ मुहूर्त के साथ साया भारी रहेगा। जुलाई में केवल आठ दिन के शुभ मुहूर्त हैं 10 ,17 ,18 ,19  20  21 ,22 और 23 जुलाई। 



16 अक्टूबर से लेकर 1 नवम्बर तक दैत्य गुरू शुक्र अस्त रहेंगे यानि तारा डूबा रहेगा।
10 नवंबर से लेकर 7  दिसंबर तक देव गुरु अस्त रहेंगे। 25 सितम्बर से श्राद्ध शुरू होंगे और 9 अक्टूबर को समाप्त होंगे। शादी के बंधन में बंधना संभव नहीं होगा। 12 और 13 दिसंबर को शुभ मुहूर्त हैं।

जानें कौन चुपके से कृष्ण की रासलीला में आया ? (देखें Video)

Related Stories:

RELATED ‘गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं को अपने जीवन में अपनाएं’