हाऊसिंग बोर्ड के 20 कर्मचारियों पर सैक्सुअल हरासमैंट के आरोप

चंडीगढ़ (साजन) : चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड में स्टैनो के पद पर तैनात एक महिला कर्मचारी ने विभाग के 20 कर्मचारियों के खिलाफ सैक्सुअल हरासमैंट की शिकायत बोर्ड के चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर (सी.ई.ओ.) को दी है। आरोपियों में दो रिटायर्ड अफसर भी शामिल हैं। मामला पुलिस के पास भी पहुंचा है लेकिन चूंकि बड़े स्तर पर कर्मचारी इन्वॉल्व हैं लिहाजा चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड के अधिकारी कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। अधिकारियों ने मामला पहले इंटरनल सैक्सुअल हरासमैंट कमेटी के सुपुर्द कर दिया है।

उधर, चंडीगढ़ हाऊसिंग बोर्ड के अधिकारी व अन्य प्रशासनिक अफसर सीधे मामले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं। उधर, महिला ने इस बाबत कहा कि कार्यालय में इन कर्मचारियों ने एक गैंग बना रखा है जो मिलजुलकर गैरकानूनी काम करते हैं। महिला का कहना है अगर उक्त शिकायत की निष्पक्ष जांच हो तो कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

कमेटी ने आरोपियों को किया तलब
सी.ई.ओ. हर्ष नैयर के शहर से बाहर होने के चलते विभाग के दूसरे वरिष्ठ अधिकारियों ने मामले में चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड में ही तैनात अकाउंट्स अफसर गगनदीप कौर की अध्यक्षता में सैक्सुअल हैरासमेंट कमेटी बनाकर उसे जांच सौंप दी है। मामले में सभी आरोपियों को नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया गया है। जिन मुलाजिमों पर सैक्सुअल हैरासमैंट के आरोप लगाए लगाए गए हैं उनमें दो महिला कर्मचारी और दो रिटायर्ड कर्मचारी भी शामिल हैं।

काम के बहाने बुलाकर करते हैं छूने की कोशिश 
महिला सैक्टर-9 स्थित हाऊसिंग बोर्ड के दफ्तर में बीते 20 साल से नौकरी कर रही है। महिला ने आरोप लगाए हैं कि विभाग के कुछ कर्मचारी आए दिन उससे छेडछाड़ करते हैं। उसे काम के बहाने अपने पास बुलाते हैं और इस दौरान छूने की कोशिश करते हैं। अभद्र शब्दावली के साथ-साथ डबल मीनिंग शब्दों का प्रयोग करते हैं। कार्यालय का समय समाप्त होने के बाद भी उसे अपने पास बुलाते हैं। 

सैक्रेटरी ने कर्मचारियों को दी थी हद में रहने की हिदायत
महिला ने एक बार मौखिक रूप से बोर्ड के सैक्रेटरी को भी कर्मचारियों द्वारा परेशान किए जाने को लेकर शिकायत दी थी। सैक्रेटरी ने आरोपियों को बुलाकर पूछताछ की थी। सैके्रटरी ने सभी को चेतावनी देते हुए कहा था कि अपनी हदों में रहकर काम करें। उधर मामले में तमाम अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। 

कंप्यूटर-टेबल आदि नहीं मिल रहे, शिकायत समझ से परे
सी.ई.ओ. हर्ष नैयर का कहना है कि वह बाहर हैं लिहाजा उन्हें इस बाबत नहीं पता। प्रशासनिक अफसर जानते हुए भी कुछ बताने को तैयार नहीं। एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर इतना जरूर बताया कि महिला ने जो शिकायत दी है उसमें दो महिलाओं का भी जिक्र है। शिकायत में यह भी कहा गया है कि वह स्टैनो के पद पर कार्यरत है और उसे कंप्यूटर-टेबल इत्यादि नहीं मिल रहे। 

अब यह समझ से परे है कि दफ्तर में काम को लेकर समस्या है जिसे महज हैरासमैंट कह सकते हैं। अधिकारी ने कहा कि महिला का तलाक हो रखा है और मानसिक तौर पर भी कुछ स्थिर नहीं दिखती लेकिन वह बिना मैडीकल रिकार्ड के इस बाबत कुछ कह नहीं सकते।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED यौन शोषण मामला : खंगाले जा रहे कार्यालय के सी.सी.टी.वी. कैमरे