शौचालय में शौच नहीं जा सकते, बॉथरूम में नहा नहीं सकते, नर्क से भी बदतर हैं हालात

पलवल(गुरूदत्त गर्ग): हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी पलवल लोग पिछले चार महीनों नरक में रहने के लिए मजबूर हैं। सीवरेज लाईन चॉक रहने के कारण घरों और बाहर  गंदा पानी चौबीस घंटे जमा रहता है। हालात इतने बदतर हैं कि लोग घरों अंदर बने शौचालयों में शौच नहीं जा सकते और बाथरूम में बैठकर नहा भी नहीं सकते। घरों के बाहर सड़कों कई इंच गंदा और बदबूदार पानी भरा रहता है, जिससे लोग बीमार हो रहे हैं। वहीं जमा हुए पानी में मच्छरों की भरमार हो गई है। सड़कें जैसे तालाब बनी दिखाई देती हैं, लोग खुले सांस भी ले पा रहे। ऐसे में उनका जीवन नरक से भी बदतर हो गया है।



दरअसल, पलवल हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के सैंकड़ों मकानों सामने सीवरेज पिछले करीब चार महीने से ओवरफ्लो कर रहे हैं। लेकिन जनस्वास्थय विभाग इस ध्यान नहीं दे रहा है। लोगों ने विकराल हुई समस्या निदान निवारण लिए ऐसा कोई अधिकारी नहीं छोड़ा जिसके पास जाकर शिकायत नहीं की हो। जेई से लेकर स्वास्थय मंत्री और मुख्यमंत्री तक अलग अलग माध्यम से शिकायत कर चुके हैं लेकिन किसी का ध्यान इस पर नहीं आया। लोगों ने बताया कि कर्मचारी नाममात्र लिए आते हैं औरफोर्मल्टी पूरी कर वापिस चले जाते हैं और समस्या जस की तस बनी रहती है।



नरक में जीवन जीने मजबूर हॉउसिंग बोर्ड कॉलोनी  लोग सरकार और सरकार स्थानीय प्रतिनिधि के प्रति भारी गुस्सा है। इसी गुस्से चलते लोगों ने सीएम के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला तथा प्रदेश सरकार, मुख्य मंत्री मनोहरलाल खट्टर तथा प्रधानमंन्त्री नरेंद्र मोदी और सरकार खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 



आरोप: सचिव दीपक मंगला ने कहा-जिसको वोट दिया है उसके पास जाओ
लोगों ने आरोप लगाया कि इतने लम्बे समय तक सीवरेज को लेकर अधिकारियों के नकारात्मक रवैये की शिकायत लेकर जब दीपक मंगला के पास गए तो दीपक मंगला ने उनके साथ गलत व्यवहार करते हुए वोटों का उलाहना दिया और कहा की तुमने तो हमें वोट ही नहीं दिया, जिन्हें वोट दिया उन्हीं के पास जाओ। वहीं फोन पर दीपक मंगला ने इन आरोपों सिरे से नकारते हुए समस्या का जल्द समाधान कराने का आश्वासन दिया है।

Related Stories:

RELATED रेल लाइन के पास होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमों पर लगेगी रोक