बजट सत्र का सातवां दिनः प्रश्नकाल के दौरान सदन में छाया रहा शिक्षा विभाग में प्रतिनियुक्ति का मुद्दा

देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा के बजट सत्र का आज सातवां दिन है। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही प्रश्नकाल के दौरान शिक्षा विभाग में प्रतिनियुक्ति का मुद्दा छाया रहा। इस पर शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने जवाब देते हुए कहा कि शिक्षा विभाग में अभी तक 34 शिक्षक प्रतिनियुक्ति पर हैं।

जानकारी के अनुसार, सदन में भाजपा कुंवर प्रणव चैम्पियन ने सदन मे दैनिक मजदूरी के मानक का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि 175 रुपए प्रतिदिन अव्यवहारिक दैनिक मजदूरी है, जो कि महंगाई के लिहाज के काफी कम है। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि मजदूरी की दर को 300 रुपए तक बढ़ाया जाए। इसके जवाब में ग्राम्य विकास मंत्री ने कहा कि मजदूरी की दर केंद्र सरकार के द्वारा तय की जाती है।

वहीं सदन में विपक्ष निजी डॉक्टरों के हड़ताल को लेकर सत्ता पक्ष को घेरने की तैयारी में है। अब विपक्ष सदन के भीतर निजी अस्पतालों के क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट का मुद्दा उठाएगी और पीठ से नियम 310 के तहत चर्चा करने की मांग करेगी।

बता दें कि सदन में छठे दिन 3 विधेयकों को सर्वसम्मति से पारित किया गया, जिसमें कि 1.उत्तराखंड (उत्तर प्रदेश नगर निगम अधिनियम 1959) संशोधन विधेयक, 2019, 2. उत्तराखंड कृषि उत्पाद मंडी (विकास एवं विनिमय) संशोधन विधेयक, 2019 3. भारतीय भागीदारी (उत्तराखंड संशोधन) विधेयक, 2019 शामिल हैं।

Related Stories:

RELATED हंगामे की भेंट चढ़ा नगर निगम मोगा का बजट सैशन