Kundli Tv- रावण के ये सपने अगर होते पूरे, दुनिया का नज़ारा कुछ और ही होता

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)
रावण को कौन नहीं जानता, माता सीता को अपहरण कर उन्हें ले जाने वाला रावण रामायण का प्रमुख पात्र था। लंका का राजा होने के कारण इसे लंकापति रावण कहा जाता था। मान्यतानुसार रावण में अनेक गुण भी थे। लेकिन उसके यह गुण उसकी सबसे बड़ी कमज़ोरी के आगे टिक नहीं पाए, जो थी उसका अहम और अंहकार। रावण खुद को ही भगवान मानता था और ईश्वर के बनाए नियमों में बदलाव करना चाहता था। कहते हैं कि अगर रावण कुछ साल और जीवित रहता तो वह अपने सात अधूरे काम पूरा कर लेता जो वो हमेशा से करना चाहता था, तो फिर दुनिया का नज़ारा कुछ और ही होता है। देखिए रावण के वह सात अधूरे काम क्या हैं।


कहते हैं कि रावण का सबसे पहला सपना था स्वर्ग में सीढ़ी बनाना। रावण चाहता था कि हर व्यक्ति स्वर्ग जाए इसलिए वह धरती से लेकर स्वर्ग तक सीढ़िया बनाने का काम शुरू कर चुका था। लेकिन जब तक यह सीढ़ी बनकर तैयार होती तब तक रावण भगवान राम के हाथों मारा गया।

रावण जानता था कि पृथ्वी पर पीने का पानी बहुत कम है। इसलिए वो सोचता था कि अगर समुद्र का पानी मीठा हो जाए तो पीने के पानी की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी। इस काम में रावण लग चुका था लेकिन काम पूरा होने से पहले खुद पृथ्वी से चला गया।

रावण को सोना बहुत प्रिय था। इसके बारे में बहुत से लोग जानते होंगे। इसलिए वह सोने में सुगंध पैदा करना चाहता था। वो एेसा इसलिए करना चाहता था ताकि सोने की पहचान उसकी खूशबू से कर ली जाए। लेकिन उसके बाकि सपनों की तरह यह सपना भी अधूरा रह गया।

कहा जाता है कि रावण अगर कुछ दिन और जीवित रहता तो मदिरा को गंधहीन बना देता। रावण की चौथी इच्छा थी कि मदिरा में कोई गंध नहीं हो जिससे सभी लोग मदिरापान का आनंद ले सकें।

जैसे कि हम सब जानते हैं कि देश में रंगभेद बहुत है। लंकापति रावण रंगभेद को खत्म करना चाहता था। रावण चाहता था कि सभी लोग गोरे दिखें ताकि कोई किसी के सांवले रंग को लेकर मजाक न करें।

क्योंकि रावण अपने आप को भगवान मानता था, इसलिए वह चाहता था कि संसार भगवान की पूजा बंद कर दे और उसकी पूजा करे लेकिन रावण का यह सपना उसके साथ ही टूट गया।

खून का रंग लाल होता है जिसे रावण सफ़ेद करना चाहता था ताकि उसके द्वारा किए जाने वाली हत्या का पता किसी को न चले।
शिव मंदिर से उठा लाएं ये एक चीज़, आपकी सभी wishes होंगी पूरी (देखें VIDEO)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- कैसे भगवान जगन्नाथ ने तुलसीदास को कराए उनके इष्ट के दर्शन?