स्कूल में कृषि को लेकर बने समर्पित पाठ्यक्रम : महापात्रा

नई दिल्लीः भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) ने युवाओं में कृषि के प्रति घटते आकर्षण को ध्यान में रख कर मानव संसाधान विकास मंत्रालय से स्कूली शिक्षा में‘कृषि के प्रति समर्पित’ पाठ्यक्रम तैयार करने तथा उसकी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देने का अनुरोध किया है ।  

आईसीआर के महानिदेशक त्रिलोचन महापात्रा के अनुसार जिस प्रकार से स्कूलों में गणित,भौतिक विज्ञान और रसायन शास्त्र की पढ़ाई पर विशेष ध्यान दिया जाता है ठीक उसी प्रकार से कृषि शिक्षा पर भी जोर दिए जाने की जरूरत है जिससे नई पीढ़ी में कृषि के प्रति लगाव उत्पन्न हो सके। 

उन्होंने कहा कि देश में स्कूली स्तर पर कृषि शिक्षा बहुत कम है जिसके कारण इसके लिए एक समर्पित पाठ्यक्रम तैयार करने की जरुरत है। आईसीएआर ने इस संबंध में मानव संसाधन मंत्रालय को पत्र भी लिखा है ।   डॉ महापात्रा ने कहा कि आज मुश्किल से पांच प्रतिशत युवक रोजगार का कोई विकल्प नहीं होने पर खेती का पेशा अपनाते हैं। खेती को लेकर समाज में ऐसी मान्यता भी बन गयी है जिसके कारण युवा इस ओर नहीं जाना चाहते हैं । उन्होंने कहा कि उनके राज्य ओडिशा में ही युवक शहर जा कर छोटा -मोटा काम कर लेते हैं लेकिन वे खेती नहीं करना चाहते हैं। ऐसे में सामाजिक सोच में बदलाव की भी जरुरत है । 

Related Stories:

RELATED केंद्रीय विद्यालय में 8339 पदों पर भर्ती, 23 सितंबर से पहले करें अप्लाई