जस्टिस गोगोई ही होंगे अगले CJI, नियुक्ति के खिलाफ याचिका को SC ने किया खारिज

नेशनल डेस्क: सुप्रीम कोर्ट के अगले प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई को लेकर ​विवाद शुरू हो गया है। प्रधान न्यायाधीश के पद पर गोगोई की नियुक्ति का विरोध किया जा रहा है। हालांकि, कोर्ट ने न्यायमूर्ति की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि हमारा मानना है कि इस मामले में इस समय हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता, यह याचिका विचार योग्य नहीं है।
 


वकील लूथरा ने याचिकाकर्ता वकील सत्यवीर शर्मा के साथ मिलकर न्यायमूर्ति गोगोई की प्रधान न्यायाधीश के पद पर नियुक्ति रद्द करने की मांग की थी। दायर याचिका में कहा गया कि न्यायमूर्ति गोगोई 12 जनवरी को शीर्ष अदालत के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के विवरण को आधार बना रहे हैं और एक कानूनी सवाल पर फैसला चाहते हैं। यह प्रेस कॉन्फ्रेंस न्यायमूर्ति जे चेलामेश्वर (अब सेवानिवृत्त), न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ ने की थी।


याचिका के अनुसार, चार न्यायाधीशों का यह कदम देश की न्याय प्रणाली को नुकसान पहुंचाने से कहीं भी कम नहीं था। उन्होंने देश में इस न्यायालय के चुनिन्दा आंतरिक मतभेदों के नाम पर जनता में आक्रोश पैदा करने का प्रयास किया। याचिका में न्यायमूर्ति रंजन गोगोई को तीन अक्टूबर से देश का नया प्रधान न्यायाधीश नियुक्त करने का आदेश निरस्त करने का अनुरोध किया गया था, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने आज खारिज कर दिया।
     

Related Stories:

RELATED न्यायमूर्ति गोगोई ने की निवर्तमान प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की प्रशंसा