मिड-डे मीलः SC ने बिहार सरकार को लगाई फटकार, पूछा- 5 दिन की जगह हफ्ते में एक दिन अंडा क्‍यों?

पटनाः सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि मिड-डे मील में बच्चों को हफ्ते में एक दिन ही अंडा क्‍यों दिया जा रहा है जबकि 5 दिन अंडा या दूध देने का आदेश दिया गया है। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से 4 सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है।

जानकारी के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ ने मामले की सुनवाई की। कोर्ट ने राज्य सरकार को नोटिस जारी करते हुए मिड-डे मील में बच्चों को हफ्ते में एक दिन ही अंडे देने पर जवाब मांगा है। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को 4 सप्ताह का समय भी दिया है।

वहीं बच्चों की पोषण संबंधी जरुरतों को पूरा करने के लिए सूखा प्रभावित इलाकों में हफ्ते में 5 दिन या कम से कम 3 दिन अंडे या दूध या अन्य पोषक पदार्थ देने का आदेश दिया था। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में एक एनजीओ के द्वारा याचिका दायर की गई थी। याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में लिखा था कि राज्य सरकार के द्वारा आदेश का उल्लंघन किया जा रहा है।
 

Related Stories:

RELATED पंजाब के स्कूलों में 12वीं तक के स्टूडैंट्स को मिलेगा Mid Day Meal