Kundli Tv- सावन की शिवरात्रि क्यों मानी जाती है खास

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)

देवों के देव महादेव को सावन का महीना बहुत प्रिय है। कहते हैं इस एक महीने में जो व्यक्ति भोले बाबा की आराधना करता है, वह मुंह मांगा वरदान प्राप्त करता है। 9 अगस्त बृहस्पतिवार को प्रदोष व्रत, श्रावण शिवरात्रि व्रत, मासिक शिवरात्रि व्रत और शिव त्रयोदशी पर्व की तिथि आ रही है। यह सावन महीने का सबसे खास दिन है। इस रोज़ व्रत व पूजन करन से कुंवारों को मनभावन जीवनसाथी मिलता है, वैवाहिक जीवन में मधुरता बनी रहती है और भोले की कृपा से हर पाप का अंत होता है। ज्योतिष विद्वान कहते हैं सावन का महीना सूर्य के सिंह राशि में प्रवेश करने पर शुरू हो जाता है। अत: सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा का प्रभाव अन्य दिनों की अपेक्षा जल्दी मिल जाता है। वैदिक काल से मानव अपनी मनोरथ पूर्ति के लिए भगवान शिव का पूजन करने के उपरांत उन्हें विभिन्न प्रकार के भोग अर्पित करता है। क्या आपको ज्ञात है किस अन्न के चढ़ावे से कैसी कामना पूरी होती है -


शिव पूजन में गेंहू से बने व्यंजन चढ़ाने पर कुंटुब की वृद्धि होती है। 

मूंग से शिव पूजा करने पर हर सुख और ऐश्वर्य मिलता है। 

चने की दाल अर्पित करने पर श्रेष्ठ जीवन साथी मिलता है। 

कच्चे चावल अर्पित करने पर कलह से मुक्ति और शांति मिलती है। 

तिलों से शिव पूजा और हवन में एक लाख आहुतियां करने से हर पाप का अंत हो जाता है। 

उड़द चढ़ाने से ग्रहदोष और खासतौर पर शनि पीड़ा शांत होती है।

राशि अनुसार सावन में करें ये काम, फिर देखें भोले का चमत्कार (देखें VIDEO) 

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- आज का पंचांग: 05 नवंबर 2018