Kundli Tv- सावन: इस अचूक तरीके का करें इस्तेमाल, लाइफ में आएगा बड़ा बदलाव

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें VIDEO)


सावन मास में शिव को प्रसन्न करने का यह एक अचूक तरीका हम आपके लिए लाए हैं। पूरी श्रद्धा और भक्ति से करके देखें जीवन में चमत्कार जरूर होगा। भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए बेलपत्र और शमीपत्र चढ़ाते हैं। इस संबंध में एक पौराणिक कथा के अनुसार जब 89 हजार ऋषियों ने महादेव को प्रसन्न करने की विधि परम पिता ब्रह्मा से पूछी तो ब्रह्मदेव ने बताया कि महादेव सौ कमल चढ़ाने से जितने प्रसन्न होते हैं, उतना ही एक नीलकमल चढ़ाने पर होते हैं। ऐसे ही एक हजार नीलकमल के बराबर एक बेलपत्र और एक हजार बेलपत्र चढ़ाने के फल के बराबर एक शमीपत्र का महत्व होता है।

बेलपत्र ने दिलाया वरदान
बेलपत्र महादेव को प्रसन्न करने का सुलभ माध्यम है। बेलपत्र के महत्व में एक पौराणिक कथा के अनुसार एक भील डाकू परिवार का पालन-पोषण करने के लिए लोगों को लूटा करता था। श्रावण महीने में एक दिन डाकू जंगल में राहगीरों को लूटने के इरादे से गया।

एक पूरा दिन-रात बीत जाने के बाद भी कोई शिकार नहीं मिलने से डाकू काफी परेशान हो गया। इस दौरान डाकू जिस पेड़ पर छुपकर बैठा था, वह बेल का पेड़ था और डाकू हताशा में पेड़ के पत्तों को तोड़कर नीचे फैंक रहा था। इससे प्रसन्न होकर शिवजी अचानक डाकू के सामने प्रकट हुए और वरदान मांगने को कहा। इससे डाकू पहले तो घबरा गया लेकिन अचानक हुई इस कृपा के बारे में शिवजी ने उसे बताया कि वह जहां बेलपत्र फैंक रहा था उसके नीचे शिवलिंग स्थापित है। इसके बाद से बेलपत्र का महत्व और बढ़ गया।
भगवान बनाकर भेजते हैं इन 3 नाम वालों की जोड़ियां (देखें VIDEO)

Related Stories:

RELATED इस एक मंत्र से आप कभी नहीं होंगे निराश