अक्टूबर में खुदरा महंगाई दर घटकर 3.31 फीसदी हुई

नई दिल्ली: फल, प्रोटीन वाले उत्पाद तथा खाने पीने की वस्तुओं के दाम घटने से अक्तूबर महीने में खुदरा मुद्रास्फीति घटकर 3.31 प्रतिशत पर आ गई है। यह इसका एक साल का निचला स्तर है।  उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति सितंबर, 2018 में 3.7 प्रतिशत पर और अक्तूबर, 2017 में 3.58 प्रतिशत पर थी। यह खुदरा मुद्रास्फीति का सितंबर, 2017 के बाद का निचला स्तर है। उस समय यह 3.28 प्रतिशत थी।
      

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार अक्तूबर में खाद्य वस्तुओं के दाम 0.86 प्रतिशत घटे। सितंबर में इनकी कीमतों में 0.51 प्रतिशत का इजाफा हुआ था।  आंकड़ों के अनुसार अक्तूबर में सब्जियां 8.06 प्रतिशत सस्ती हुई, जबकि सितंबर में इनकी कीमतों में 4.15 प्रतिशत की कमी आई थी।      

समीक्षाधीन महीने में फलों की मुद्रास्फीति घटकर 0.35 प्रतिशत पर आ गई, जबकि एक महीने पहले फलों के दाम 1.12 प्रतिशत बढ़े थे। प्रोटीन वाले उत्पादों मसलन मोटे अनाज, अंडे, दूध और अन्य संबंधित उत्पादों की कीमतों में भी अक्तूबर में गिरावट आई है। हालांकि, ईंधन और बिजली श्रेणी में मुद्रास्फीति बढ़कर 8.55 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो सितंबर में 8.47 प्रतिशत थी।  

Related Stories:

RELATED खुदरा महंगाई के बाद थोक महंगाई में भी इजाफा, सितंबर में 5.13% रही