हरियाणा में निकली बंपर भर्तियां, जल्दी करें कहीं हाथ से निकल न जाए मौका

चंडीगढ़(ब्यूरो): हरियाणा सरकार ने ग्रुप डी के 18 हजार पदों की भर्तियां निकाली हैं, लेकिन इस बार भर्ती बोर्ड ने नियमों को सख्त किया है। इस बार कुछ ऐसी शर्तें रखी गई हैं, जिन्हें पूरा करने पर ही आप परीक्षा में बैठ सकते हैं। आवेदकोंं को लिखित परीक्षा में 90प्रतिशत अंक लाने होंगे। इसके अलावा आवेदक यदि सामाजिक-आर्थिक प्रमाण पत्र की परिधि के अंदर आते हैं तो उन्हें वह प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना होगा।

पहले जानें भर्ती के बारे में
हरियाणा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन में ग्रुप डी की 18216 पदों पर भर्तियां की जा रही है। कमीशन ने इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। आवेदन करने की प्रक्रिया 28 अगस्त से शुरू की जाएगी। जो भी युवक-युवतियां जो इस भर्ती के लिए इच्छुक हैं, वे 19 सितंबर तक ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं, जबकि इसके लिए 21 सितंबर तक आवेदन फीस जमा करवाई जा सकती हैं।

कुल 18216 पदों में से 8312 पद सामान्य श्रेणी के लिए, 4245 पद अनुसूचित जाति के लिए, 3345 पद बीसीए, 2316 पद बीसीबी के लिए आरक्षित किये गए हैं। इस भर्ती के लिए इच्छुक युवक-युवतियां किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं पास होना बहुत जरूरी है। आवेदकोंं की आयु सीमा 18 से 42 वर्ष तक रखी गई हैं। तथा आवेदकों को 16900-53500 रुपये प्रति माह वेतन दिया जाएगा।

आवेदन फीस - कैटेगरी-1 में महिला और पुरुषों के लिए 100 रुपये। हरियाणा की महिलाओं के 50 रुपये। एससी और बीसी श्रेणी के उम्मीदवारों में पुरुषों के लिए 50 रुपये और महिलाओं के लिए 25 रुपये ऑनलाइन माध्यम से भुगतान करने होगें।

चयन प्रक्रिया-  कुल 100 में से 90 अंकों की लिखित परीक्षा होगी। मेरिट के आधार पर पास उम्मीदवारों को चुना जाएगा।

ये होंगे नियम
प्रमाण पत्र को पंचायत सदस्य से लेकर एमपी-एमएलए कर सकेंगे सत्यापित-

मुख्य सचिव कार्यालय के द्वारा सामाजिक ,आर्थिक व अनुभव प्रमाण जारी करने के अलावा सत्यपान करने वाले अधिकारियो की सूची भी जारी कर दी गई है। प्रमाण पत्र को संबंधित क्षेत्र के पंचायत सदस्य, प्रधान, पार्षद, सांसद, विधायक सत्यापित कर सकेंगे। इसे नायब तहसीलदार व तहसीलदार की ओर से जारी किया जाएगा।



वर्टिकल और हॉरिजोंटल आरक्षण दिया जाएगा- आवेदकोंं की भर्ती करते समय भारतीय सरकार वर्टिकल और हॉरिजोंटल आरक्षण देते हुए भर्ती करेगी। हॉरिजोंटल आरक्षण प्रक्रिया में ईएसएम श्रेणी है, जिसे मुख्यत: आगे जनरल व अनारक्षित श्रेंणी के आवेदकों के लिए 7 प्रतिशत, एससी श्रेंणी के आवेदकों के लिए 2प्रतिशत, बीसीए श्रेणी के आवेदकों के लिए 2 प्रतिशत और बीसीबी श्रेणी के आवेदकोंं के लिए 3 प्रतिशत में बांटा गया है।

दिव्यांगों को भर्ती में मिलेगा आरक्षण- हरियाणा सरकार ने अब काफी समय के बाद यह निश्चित किया हैं कि दिव्यांगों को भर्ती में आरक्षण दिया जाएगा। हरियाणा सरकार की ग्रुप- ए,बी,सी,डी श्रेणी के खाली पदों पर सीधी भर्ती में दिव्यांगों को चार प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा।

अतिरिक्त अंकों का नियम -  हरियाणा सरकार के फैसले के अनुसार यदि किसी आवेदक के रिश्तेदार सरकारी नौकरी में नहीं है, तो उसे ग्रुप प्रतिशत और प्रतिशत की नौकरी के लिए पांच त्न अंक दिये जाएंगे। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा इस सूचना में बताया हैं कि ग्रुप सी और डी पदों के लिए उम्मीदवारों का नामों की सिफारिश लिखित परीक्षा, अनुभव तथा सामाजिक-आर्थिक मानदंडों के आधार पर चयन किया जाएगा।

देना होगा ये शपथ पत्र- मनोहर लाल सरकार ने दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए एक बहुत ही अच्छा नियम लागू किया हैं, कि जब कोई व्यक्ति कभी भी वैवाहिक गठबंधन में बंधेगा तो वह दहेज नहीं लेगा और उसे लिखित में शपथ-पत्र देना होगा। हरियाणा में सरकारी नौकरी पाने की चाहत रखने वाले युवाओं को दहेज का मोह छोडऩा होगा। अगर दहेज लिया तो नौकरी से हाथ धोने पड़ सकते हैं।

 सिर्फ लिखित परीक्षा होगी, नो इंटरव्यू- हरियाणा के मुख्य सचिव ने आशय का एक अधिसूचना से जारी करते हुए बताया हैं कि ग्रुप सी व डी के पदों के लिए केवल लिखित परीक्षा होगी और अब इंटरव्यू की प्रथा बंद हो जाएगी। इसके अनुसार ग्रुप सी व डी के पदों पर चयन के संबंध में परीक्षा के कुल अंक 100 होंगे, जिनमें 90 अंकों की लिखित परीक्षा और बाकि के 10 अंक सामाजिक-आर्थिक मानदण्ड तथा अनुभव के शामिल किये जाएंगे।

Related Stories:

RELATED हरियाणा कांग्रेस अब सोशल मीडिया पर होगी सक्रिय