ग्लेशियर में शहीद हुए राकेश का राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार, नम आंखों से दी विदाई (Video)

बिलासपुर (मुकेश): किन्नौर में गिरे ग्लेशियर की चपेट में आने से शहीद हुए जवानों में से बिलासपुर के जवान राकेश कुमार (41) का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ। शुक्रवार को उनका पार्थिव शरीर उसके पैतृक घर शाहतलाई पहुंचा। शव को देखकर पूरे क्षेत्र में शोक का माहौल छा गया। अंतिम विदाई में पूरा परिवार और स्थानीय लोग उमड़े। हर किसी की आंखें नम हो गई। वहीं शहीद की पत्नी बेसुध और दोनों बेटे खामोश दिखे।



बीमार माता-पिता के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। जानकारी के मुताबिक शहीद के पिता चिरंजी लाल ने बताया कि राकेश जुलाई 2018 में दो महीने की छुट्टी काटकर गया था। उन्होंने बताया कि बुधवार को उन्हें किसी का फोन आया। उसने मेरा हालचाल पूछा और राकेश के बारे में पूछकर फोन काट दिया। मुझे शक हुआ। उसके बाद फिर फोन आया तो राकेश के शहीद होने की सूचना मिली। शाहतलाई के गांव घुमारपुर में दो दिनों से किसी के घर में चूल्हे नहीं जले। पूरे गांव में मातम छाया है।

शहीद राकेश कुमार 1999 में सेना में भर्ती हुआ था और फरवरी 2004 में ऊना की ममता से उस की शादी हुई थी। शहीद के दो बेटे हैं मुनीष व विवेक।



प्रशासन की ओर से एडीएम राजीव कुमार भी इस मौके पर उपस्थित रहे। वहीं पैतृक गांव घर पर पार्थिव शरीर के समय पूर्व मंत्री रिखी राम कौंडल के अलावा पूर्व विधायक डॉ वीरू राम किशोर भी परिवार को इस दुख की घड़ी में ढांढस बंधाते हुए दिखे। 

Related Stories:

RELATED गमगीन माहौल में हुआ सी.आर.पी.एफ. जवान का अंतिम संस्कार