ऑफ द रिकॉर्डः शरद पवार की राहुल गांधी को दो टूक

नेशनल डेस्कः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राकांपा सुप्रीमो शरद पवार में काफी गुण पाए हैं और जब भी कभी दोनों दिल्ली में होते हैं तो एक-दूसरे से मिलते हैं। 2 सप्ताह पहले राहुल ने पवार के अकबर रोड स्थित निवास में जाकर उनसे मुलाकात की और देश की मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर लम्बी चर्चा की। इस मुलाकात को बहुत ही गोपनीय रखा गया। जब मुलाकात किसी तरह सार्वजनिक हुई तो भी किसी को यह मालूम नहीं हुआ कि दोनों के बीच क्या चर्चा हुई। अब ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि महाराष्ट्र के मुद्दे पर चर्चा जारी है और राहुल गांधी इस मामले पर पवार की सलाह चाहते हैं। पवार ने राहुल को स्पष्ट तौर पर बता दिया कि कांग्रेस प्रमुख विपक्षी पार्टी है इसलिए राज्यों में उसे गठबंधन करने के लिए आगे आना चाहिए।


पवार ने कहा कि इस मामले में किसी तरह की शालीनता नहीं होनी चाहिए। विपक्ष में ऊपर से नीचे तक रैंक में एकता और गठबंधन के घटकों से संबंधित बूथ स्तर पर प्रभावी रणनीति की जरूरत है। यह काम आसान नहीं। पवार ने राहुल को यह भी बताया कि मोदी लोकसभा के चुनाव नवम्बर-दिसम्बर में करवाने की घोषणा कर विपक्ष को हैरानी में डाल सकते हैं। अगर गठबंधन या सीटों का तालमेल समय पर हो गया तो इससे समूचे विपक्ष को राजग का मुकाबला करने में मदद मिलेगी।

कांग्रेस और राकांपा ने सैद्धांतिक तौर पर महाराष्ट्र में गठबंधन के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है। कांग्रेस अन्य प्रमुख राज्यों में भी ऐसे गठबंधन करने की इच्छुक है। राहुल इस संबंध में अभी तक विचार कर रहे हैं जबकि पवार शांत बैठे हैं।

Related Stories:

RELATED मिशन 2019: अब सोशल मीडिया पर होगी सियासी जंग, पार्टियों ने तैयार किए अपने-अपने ‘वॉर रूम’