राफेल डीलः राहुल के आरोपों पर बीजेपी का पलटवार, कहा-संवैधानिक संस्थाओं पर भरोसा नहीं

नेशनल डेस्कः राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांदी के सवालों पर बीजेपी ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी का संवैधानिक संस्थाओं पर भरोसा नहीं रह गया है। उन्होंने कहा, नतीजे उनके मुताबिक न आएं तो ईवीएम खराब हैं। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सलाव उठाकर राहुल ने गैर-जिम्मेदाराना रवैये की हद पार कर दी है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री के लिए राहुल गांधी ने गाली का इस्तेमाल किया। जैसी भाषा का राहुल ने इस्तेमाल किया है। वह बेहद स्तरहीन है, हम इसकी निंदा करते हैं।



प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर अशोभनीय टिप्पणी की है, जिनकी खुद की ईमानदारी के बारे में सब लोग जानते हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने राहुल के झूठ को उजागर कर दिया है। हम उम्मीद करते हैं कि वह कोर्ट के फैसले को स्वीकार करेंगे। अब राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट पर ही सवाल खड़े कर रहे हैं। क्या राहुल गांधी या कांग्रेस पार्टी सुप्रीम कोर्ट से ऊपर हैं?



केंद्रीय मंत्री ने कहा, राहुल गांधी ने हमसे कई सवाल किए हैं। उन्होंने कहा, आज हम राहुल गांधी से कुछ सवाल करना चाहते हैं। 2006 से 2011 के बीच, जब दसॉल्ट का टेंडर सबसे कम था तो आपने डील क्यों फाइनल नहीं की? आप क्यों रुके हुए थे?



रविशंकर प्रसाद ने कहा, राफेल डील पर राहुल गांधी के बयानों की पाकिस्तान में भी प्रशंसा हो रही है। क्योंकि पाक और चीन ने अपने एयरफोर्स को ताकतवर बनाया है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जो सवाल राहुल गांधी कर रहे हैं। उनके मित्र वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में भी वही सवाल किए थे, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में दिए हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा, कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि ऑफसेट पार्टनर चुनने में सरकार की कोई भूमिका नहीं है। कंपनी खुद ऑफसेट पार्टनर चुनती है।



इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, हम लोग राफेल डील की जांच के लिए जेपीसी की मांग कर रहे हैं। लेकिन सरकार इसे कराने को तैयार नहीं है। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल किया, सरकार को बताना होगा कि सीएजी की रिपोर्ट कहां है? इसे पीएसी के चैयरमैन खड़गे जी को दिखाना चाहिए। राहुल ने कहा, प्रधानमंत्री अंबानी के दोस्त हैं और उन्होंने अंबानी को चोरी कराई है।

Related Stories:

RELATED CAG ने राफेल डील का ब्योरा देने से किया इनकार, कहा- संसद का होगा उल्लंघन