फोरलेन प्रभावितों के मसले पर ढालपुर मैदान में गूंजे सवाल, वन मंत्री ने दिया जवाब

कुल्लू (दिलीप): पिछले 5 वर्षों से गूंज रहे फोरलेन प्रभावितों के अनसुलझे मसले पर रविवार को ढालपुर मैदान में सवाल गूंजे। प्रभावितों के सवालों के जवाब देने भाजपा और कांग्रेस दोनों ही सियासी दलों के प्रत्याशी नहीं आए। प्रभावितों ने इस प्रकरण में सवालों के जवाब देने के लिए भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों को आमंत्रित किया था। वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने प्रभावितों के बीच आकर कहा कि मैं भाजपा प्रत्याशी के प्रतिनिधि के रूप में आया हूं। उन्होंने प्रभावितों से बातचीत की और उनकी समस्या को सुना। इस दौरान प्रभावितों ने कई सवाल भी दागे, जिनका मंत्री ने जवाब दिया और उनकी समस्या के समाधान को लेकर उन्हें आश्वस्त भी किया। हालांकि कांग्रेस की ओर से आमंत्रण पर कोई भी नहीं पहुंचा। फोरलेन संघर्ष समिति की बहुप्रतीक्षित व बहुचॢचत बैठक ढालपुर में हुई और कई मसलों पर चर्चा हुई।

मुद्दे दब न जाएं इसलिए इस तरह दबाव बनाना जरूरी

भाजपा की ओर से वन मंत्री ने प्रभावितों के सभी मुद्दों को आचार संहिता के बाद सुलझाने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार लगातार काम कर रही है व विस्थापितों के लिए काम करेंगे। जनता दबाव बनाए रखे ताकि सरकार सजग रहे व काम करे। मुद्दे दब न जाएं इसलिए इस तरह दबाव बनाना जरूरी भी है। इस दौरान मंडी और कुल्लू जिला से आए दर्जनों फोरलेन प्रभावितों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई और कइयों ने सवाल भी दागे। इस दौरान फोरलेन संघर्ष समिति के अध्यक्ष ब्रिगेडियर खुशहाल ठाकुर, महासचिव ब्रजेश महंत सहित अन्य पदाधिकारी व प्रभावित मौजूद रहे।

आखिर कहां लगी है ब्रेक

प्रभावितों ने मंत्री के समक्ष सवाल दागते हुए कहा कि जब केंद्र से प्रभावितों को 4 गुना मुआवजा दिए जाने के निर्देश हैं तो हिमाचल में ऐसा क्यों नहीं हो रहा है। आखिर इस फाइल पर ब्रेक कहां लगी हुई है। कुछ प्रभावितों ने यह भी कहा कि यह स्पष्ट करें कि प्रभावितों की समस्या से संबंधित फाइल शिमला से आगे क्यों नहीं जा पा रही है। क्या इसमें मुख्यमंत्री का कोई रोल है या अधिकारी मामले को लटका रहे हैं। इन तमाम सवालों पर मंत्री ने लोगों को जवाब दिए और उन्हें आश्वस्त किया।

क्या बोले वन मंत्री

वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि मैं भाजपा प्रत्याशी राम स्वरूप से मिलकर आया हूं और उनके प्रतिनिधि के रूप में यहां पहुंचा। जब प्रभावितों ने बुलाया तो यहां आना जरूरी भी था। फोरलेन प्रभावित जिस प्रकार से धरना-प्रदर्शन करके और अपनी आवाज को बुलंद करते हुए सरकार पर दबाव बनाए हुए हैं यह अच्छी बात है। इस प्रकार दबाव से सकारात्मक परिणाम भी सामने आते हैं। हमारी सरकार प्रभावितों की समस्या के समाधान में लगी हुई है और इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आएंगे।

क्या कहते हैं कांग्रेस जिलाध्यक्ष

कांग्रेस जिलाध्यक्ष कुल्लू बुद्धि सिंह ठाकुर ने बताया कि कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी आज कुल्लू जिला की पार्वती घाटी में प्रचार पर थे और व्यस्तता के कारण प्रभावितों के आमंत्रण पर ढालपुर नहीं आ सके। वैसे भी प्रभावितों की चार गुना मुआवजे की मांग सहित अन्य मांगों को प्रदेश सरकार ही पूरा करेगी और प्रदेश सरकार को चाहिए कि वह प्रभावितों को राहत पहुंचाए। यदि प्रभावितों को राहत नहीं मिलती है तो कांग्रेस भी प्रभावितों के लिए आंदोलन करेगी।

Related Stories:

RELATED नाराज वन मंत्री ने अपनी ही सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, इस्तीफा देने की दी धमकी