पंजाब सरकार ने निकाले थे ट्रैवल कारोबार के टैंडर, एजैंट हुए चिंतित

जालंधर(बुलंद):घर-घर रोजगार व कारोबार मिशन के अधीन पंजाब सरकार ने ट्रैवल कारोबार के लिए पंजाब में 6 मार्च को टैंडर निकाले थे।  इस कारोबार के लिए लोगों से इन टैंडरों के लिए रजिस्ट्रेशन दाखिल करने को कहा था जिससे एजैंट की चिताएं बढ़ गई हैं। सरकार के इस कदम से पंजाब भर के ट्रैवल एजैंटों में रोष व्याप्त है।  ट्रैवल कारोबार के जानकारों की मानें तो इस टैंडर के लिए कोई व्यक्ति या कम्पनी अप्लाई कर सकती है। नीलामी में अप्लाई करने के लिए एक लाख रुपए रिजर्व प्राइस रखा गया है। नीलामी में भाग लेने की आखिरी तारीख 8 मई है और बिड 10 मई को खुलेगी। पंजाब सरकार के इस फैसले से एजैंटों की ङ्क्षचता बढ़ गई है तथा अब टकराव के चलते यह मामला उलझ भी सकता है। 

टैंडर के लिए ये हैं शर्तें 
टैंडर अप्लाई करने के लिए जारी शर्तों के अनुसार वही व्यक्ति या कम्पनी इस टैंडर को अप्लाई कर सकते हैं जो कम-से-कम 5 साल से इस इंडस्ट्री में हो और उसे कम-से-कम 3 साल का वर्कएक्सपीरियंस हो। अप्लाई करने वाले की पिछले 3 वर्षों की टर्नओवर 50 लाख से कम नहीं होनी चाहिए। उक्त कम्पनी या व्यक्ति ने 5 हजार लोग विदेश पढऩे या काम करने भेजे हों और कभी ब्लैक लिस्ट न हुआ हो। जानकारों की मानें तो जो कम्पनी या व्यक्ति इस टैंडर को लेने में कामयाब होगा, उसे पंजाब सरकार की ओर से ठेका मिलेगा और वही युवाओं को विदेश में पढऩे के लिए भेजेगा।

इसके लिए जिला स्तर पर डिस्ट्रिक ब्यूरो ऑफ इम्प्लाएमैंट के अधीन दफ्तर खोले जाएंगे। इम्प्लाएमैंट जनरेशन एंड ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत इसके लिए सरकार ऑनलाइन वैब पोर्टल बनाकर लोगों से उनकी चाहवान नौकरियों और मौजूदा नौकरियों बारे आंकड़े भी मांग रही है। इसी पोर्टल पर कोई भी व्यक्ति जो विदेश जाना चाहता है, अपने को रजिस्टर्ड करवा सकता है। सरकार उक्त कम्पनी को एक साल में 50 हजार लोग विदेश भेजने की काऊंसलिंग के लिए प्रोवाइड कराएगी। इनमें से 5 हजार स्टडी वीजा और 5 हजार वर्क परमिट के लिए अप्लाई करेंगे। सरकार ने इस बारे 29 मार्च तक किसी भी प्रकार के ऐतराज या प्रश्नों की मांग भी की है। 

पहले लाइसैंस के नाम पर और अब टैंडर के नाम पर ट्रैवल कारोबार को किया जा रहा है बर्बाद : हरदीप सिंह
ट्रैवल एजैंटों की संस्था एकोस के प्रधान हरदीप सिंह का कहना है कि पंजाब सरकार ने पहले तो ट्रैवल कारोबारियों के लाइसैंसों के नाम पर एजैंटों को खूब परेशान किया और आज तक लाइसैंसी ट्रैवल एजैंटों  को परेशान किया जा रहा है। ऊपर से अब टैंडर वाला नया काम शुरू करके पूरी तरह  से ट्रैवल कारोबार को बर्बाद करने का इरादा बनाया हुआ है। इस टैंडर प्रक्रिया बारे सरकार ने ट्रैवल कारोबारियों को विश्वास में नहीं लिया है। 

Related Stories:

RELATED जलियांवाला बाग : पंजाब सरकार ने निकाला कैंडल मार्च