पुलवामा हमलाः इमरान खान की भारत को गीदड़ भभकी, बोले- जंग हुई तो देंगे करारा जवाब (Video)

इस्लामाबादः जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंधों में तल्खी बढ़ती जा रही है। हमले के बाद से ही इमरान खान ने चुप्पी साध रखी थी और अब तक उनकी तरफ से कोई बयान नहीं दिया गया जिसकी निंदा की जा रही थी।  आज एक प्रैस कांफैंस में इस मुद्दे पर भड़ास निकालते इमरान खान कहा कि भारत बिना सबूत पाक पर इल्जाम लगा रहा है । 

  • उन्होंने कहा कि अगर भारत ने पाक पर इल्जाम लगाने बंद न किए तो वे जंग के लिए भी तैयार हैं।
  • उन्होंने कहा कि सऊदी प्रिंस के दौरे के कारण पहले बयान नहीं दिया गया। 
  • इमरान ने कहा कि भारत हमले के सबूत दे तो वह एक्शन लेने को तैयार हैं। 
  •  उन्होंने कहा कि पाक आंतकवाद के खिलाफ हर तरह की बात करने को तैयार है लेकिन भारत द्वारा सहयोग नहीं दिया जा रहा। 
  •  भारत को गीदड़ भभकी देते हुए इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान भारत की हर कार्रवाई का करारा जवाब देगा।

इमरान खान ने पुलवामा हमलों को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ भारत के आरोपों पर सवाल उठाया और कहा कि उनका देश स्थिरता चाहता है ना कि आतंकवाद । पुलवामा हमले के बाद पाक के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के लिए की जा रही मांग पर खान ने कहा जंग शुरू करना आसान है लेकिन इसे खत्म करना मुश्किल है ।


इमरान ने कहा कि अगर भारत पाकिस्तान पर हमला करने के बारे में सोच रहा है तो हम निश्चित रूप से इसका जवाब देंगे। कोई दूसरा विकल्प नहीं होगा।उन्होंने यह भी कहा कि अगर पुलवामा हमले पर भारत के पास सबूत है या खुफिया जानकारी है तो  मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि हम कार्रवाई करेंगे। 


गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सुरक्षाबलों के 44 जवान शहीद हो गए थे।ये हमला पाक के आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने किया था।  भारत ने आंतकवाद के मुद्दे पर पाक पर अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाना शुरू कर दिया है, जिससे वह इतना बौखला गया है कि एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र (UN) की शरण में पहुंच गया है। 

भारत ने पाक के खिलाफ लिया ये बड़ा एक्शन
 भारत ने पाकिस्तान को दिया हुआ ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ का दर्जा वापस ले लिया है और  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए अन्य देशों से बात करनी शुरू कर दी। साथ ही कश्मीर में बैठे पाकिस्तान परस्त आतंकियों के खिलाफ भारतीय सुरक्षाबलों ने एक्शन शुरू कर दिया है।ये भी गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं है जब जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान यूएन में गया हो, इससे पहले भी वह कई बार दुनिया के सामने इस मुद्दे को उठाता रहा है लेकिन हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी है। इस समय भी अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर पाकिस्तान के झूठ का पर्दाफाश हो रहा है।

Related Stories:

RELATED मोदी और इमरान खान की मिलीभगत से हुआ पुलवामा हमला:कांग्रेस महासचिव