शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों को दी जा रही प्राथमिकता : सोनी

जालंधरःपंजाब के शिक्षा मंत्री श्री ओपी सोनी ने सोमवार को कहा कि राज्य सरकार की ओर से शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है तथा इसी के चलते शिक्षा विभाग में खाली पदों को भरने के लिए बड़े पैमाने पर भर्ती अभियान शुरू किया गया है। श्री सोनी ने  कहा कि राज्य सरकार के कड़े प्रयासों से राज्य अगले वर्ष में शिक्षा के क्षेत्र में नंबर एक राज्य बन जाएगा। 

 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहले ही सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को वर्दी देने की प्रक्रिया को सुव्यवस्थित कर दिया है। छात्रों को वर्दी बहुत जल्द वितरित कर दी जाएगी। उन्होने कहा कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि समाज के कमजोर वर्ग के छात्रों को सरकारी नीतियों का लाभ मिले। श्री सोनी ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षकों की सभी मांगों को पहले ही स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा विरोध प्रदर्शन करना शिक्षकों का लोकतांत्रिक अधिकार है। उन्होंने कहा कि विरोध प्रदर्शन को किसी उपकरण के रूप में उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। शिक्षा मंत्री ने सोफिया संस्थान द्वारा आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए संस्थान द्वारा छात्रों को करियर की सही दिशा प्रदान करने के कदम सराहना की। उन्होंने छात्रों को अपने चरित्र में सकारात्मकता के गुणों को अपनाने के लिए कहा। उन्होने आशा व्यक्त की कि यह संस्थान आने वाले समय में छात्रों को आईएएस और आईपीएस अधिकारी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

 

इस अवसर पर जालंधर के महापौर जगदीश राज राजा ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के दूरदर्शी नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किए गए ठोस प्रयासों के कारण राज्य पहले ही शिक्षा के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों को छू रहा है। उन्होंने कहा कि हालांकि पंजाब को अभी देश में शिक्षा के क्षेत्र में सातवां स्थान मिला है, लेकिन राज्य सरकार इस क्षेत्र में पंजाब को नंबर एक बनाने के लिए अग्रसर है। 

Related Stories:

RELATED DGP ने अपराध के खिलाफ दिखाए कड़े तेवर, अपराध पर रोक लगाना पहली प्राथमिकता