पीएम मोदी ने आंगनबाड़ी-आशा वर्करों का बढ़ाया मानदेय, अब मिलेगा इतना

पानीपत(अनिल कुमार): आज पूरे देश में कौशल अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की आंगनवाड़ी वर्करों आशा वर्करों और एएनएम से जुड़ी महिलाओं को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कई राज्यों की महिलाओं से सीधा संवाद भी किया। इस कौशल अभियान के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आशा वर्करों आंगनवाड़ी वर्करों को जीवन सुरक्षा बीमा और दुर्घटना बीमा और उनके मानदेय बढ़ाकर उनके द्वारा किए गए कार्यों की भरपूर प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने आज आंगनबाड़ी वर्कर्स को दिए जाने वाले मानदेय 3000 रुपये को बढ़ा कर 4500 रुपए किया। और जिन आंगनवाड़ी को 2250 रुपए मिलता था उनको अब 3500 रुपए मिलेगा। वर्कर्स को पहले रजिस्टर पर काम करना पड़ता था, अब सरकार द्वारा स्मार्ट फ़ोन्स मुहैैैया करवाये गए हैं, ताकि काम करने में आसानी हो और देश को पेपरलेस बनाया जा सके।

महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारी सरिता चौहान ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आंगनवाड़ी वर्कर्स को सेंट्रल लेवल पर मिलने वाला मानदेय 3000 रूपये से बढ़ाकर उसको 4500 रूपये पर किया है और 2250 रुपये पाने वााली आंगनबाड़ी वर्कर्स का मानदेय बढ़ाकर 3500 रूपये किया। आज का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का मुद्दा पोषण अभियान पर रखा गया था, जो गर्भवती महिलाएं व बच्चों पर था। पोषण अभियान के तहत कई जिलों में स्मार्टफोन भी सरकार द्वारा मुहैया कराए गए हैं। पेपरलेस बनाने का भी काम चल रहा है डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइंस के तहत 11,000 जो रजिस्टर दिए जाते थे, अब वह सारे स्मार्टफोन में आ जाएंगे सारी वर्कर्स है वह स्मार्ट फोन पर अपना कार्य करेंगी।



पोषण अभियान के तहत देश की महिलाओं संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश की कुपोषित महिलाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। देश की आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर व एएनएम वर्कर देश में महिलाओं को कुपोषित होने से बचा रही हैं। सभी वर्कर देश के लिए काम कर रही हैं। उन्होंने जम्मू कश्मीर की महिला वर्करों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आप सब से देश की महिलाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए क्योंकि पिछले कई वर्षों में एक भी गर्भवती महिला व बच्चों की मौत नहीं हुई है।



पोषण दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने महिला वर्करों को जीवन सुरक्षा बीमा व दुर्घटना बीमा का लाभ दिया, जिसमें उन्हें कोई भी प्रिमियम नहीं देना पड़ेगा। उन्होंने इस अवसर पर आंगनबाड़ी वर्करों का मानदेय भी बढ़ाया और कहा कि 1 नवम्बर से आपको बढ़ी हुई रेट से मानदेय मिलना शुरू हो जाएगा। आशा वर्कर की प्रोत्साहन राशि लगभग दुगुना की गई है।

बता दें कि पानीपत हरियाणा में दूसरे स्थान पर हैं जहां सबसे ज्यादा कुपोषित महिलाए हैं। स्वास्थ्य विभाग व महिला विभाग के अधिकारियों ने कहा कि हम पूरी कोशिश करेंगे कि पानीपत को इस टैग से खत्म किया जाए।

Related Stories:

RELATED RTI में सूचना की देरी के लिए अधिकारी पर लगा 15000/- रुपये का जुर्माना