शतक से 7 कदम दूर प्रधानमंत्री मोदी

नेशनल डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को अपनी दो दिवसीय दक्षिण कोरिया की यात्रा समाप्त कर स्वदेश लौट रहे हैं। यह उनका पांच साल में दूसरा दक्षिण कोरियाई दौरा था। बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री के तौर पर यह उनका आखिरी आधिकारिक विदेश दौरा था।


2019 में दक्षिण कोरिया पीएम मोदी का पहला विदेशी दौरा है। इस दौरान पीएम मोदी को अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में सहयोग के लिए साल 2018 के लिए प्रतिष्ठित ‘सियोल शांति पुरस्कार’ से नवाजा गया। इससे पहले वह अर्जेंटीना गए थे। हालांकि चर्चा है कि वह अभी भूटान दौरे पर जाएंगे। लेकिन उनके इस कार्यक्रम की अभी तक कोई तारीख तय नहीं हुई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रधानमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद नरेंद्र मोदी अब तक 55 महीने में 93 विदेश दौरे कर चुके हैं। वह शतक बनाने से अब महज 7 कदम दूर रह गए हैं। बता दें कि इसमें एक ही देश के दो या उससे अधिक दौरे भी शामिल हैं। पीएम मोदी विदेशी दौरों के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बराबरी कर चुके हैं। मनमोहन सिंह ने 10 वर्षों के अपने कार्यकाल में 93 बार विदेश का दौरा किया था।

किस-किस प्रधानमंत्री ने कितनी विदेश यात्राएं कीं
वहीं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने कार्यकाल के 16 वर्षों में 113 विदेशी दौरे किए थे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की बात करें तो उन्होंने 48 विदेशी दौरे किए, जबकि देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू अपने कार्यकाल के दौरान 68 बार विदेशी दौरे पर गए थे। विदेश दौरों का शतक बनाने से महज 7 कदम दूर रह गए है। क्रिकेट की भाषा में कहें तो वह विदेश में नर्वस नाइटीज में पहुंच गए हैं। मोदी का प्रधानमंत्री बनने के बाद यह 55 महीने में 93वां विदेश दौरा है।

किस देश की कितनी यात्रा की
पीएम मोदी 5 साल  कुल 49 बार विदेश के लिए रवाना हुए। इस दौरान वह 93 देश (इनमें 2 या उससे ज्यादा दौरे पर भी) गए। इनमें 41 देश ऐसे रहे, जहां वह एक बार गए। 10 देशों में वह दो बार गए। फ्रांस और जापान 3-3 बार गए। रूस सिंगापुर, जर्मनी और नेपाल की यात्रा पर 4-4 बार गए। चीन और अमेरिका 5-5 बार गए हैं।

एक यात्रा पर कितना खर्च यात्रा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा पर 2021 करोड़ रुपए खर्च हुए, यानि 1 यात्रा पर औसतन 22 करोड़ रुपए खर्च हुए। अभी इसमें दक्षिण कोरिया के दौरे का खर्च शामिल नहीं किया गया है। पीएम मोदी की 92 यात्राओं पर 2021 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। अगर बात करें यूपीए-1 में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के 50 विदेश दौरों पर 1350 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। उनकी एक यात्रा पर औसतन 27 करोड़ रुपए खर्च हुए थे।

क्या मिला इन यात्राओं से
प्रधानमंत्री मोदी ने इन 93 विदेशी यात्राओं में अलग-अलग देशों में कुल 480 सझौतौं और एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने सबसे ज्यादा दौरे साल 2015 में किए थे। इस साल उन्होंने 24 देशों की यात्रा की। 2016 और 2018 में 18-18 देश गए, जबकि 2017 में वह 19 देशों के दौरे किए। वह अपने पहले साल 2014 में 13 देश गए थे। नए साल में दक्षिण कोरिया पीएम मोदी का पहला विदेशी दौरा है। इससे पहे वह अर्जेंटीना की यात्रा पर गए थे।
 

Related Stories:

RELATED लालू का ट्वीट- देश को झूठा नहीं अनूठा प्रधानमंत्री चाहिए