PNB घोटाला: गिरफ्तार नीरव मोदी को नहीं मिली जमानत, 29 मार्च तक कस्टडी में

नेशनल डेस्कः पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है। नीरव मोदी को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया, जहां उसने जमानत की अपील की थी लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर दी। मामले की अगली सुनवाई 29 मार्च को होगी। इस दौरान कोर्ट में नीरव मोदी ने कानून से सहयोग करने का वादा भी किया। 

गिरफ्तारी के बाद यह उम्‍मीद जगी है कि उसे भारत प्रत्‍यर्पित किया जा सकता है। इससे पहले नीरव मोदी की गिरफ्तारी के लिए लंदन की एक अदालत ने वारंट जारी किया था। इसके बाद से यह कयास लगाए जा रहे थे कि नीरव मोदी को किसी भी वक्त गिरफ्तार किया जा सकता है। सूत्रों के हवाले से खबर थी कि लंदन की कोर्ट ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंटईडी (ED) के अनुरोध पर किया है। बता दें कि भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को हाल ही में लंदन में देखा गया था।


सीबीआई की प्रत्यर्पण की कार्यवाही पर नजर
हाल ही में अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ ने नीरव मोदी का वीडियो जारी कर खबर दी थी कि उसने लंदन में हीरे का बिजनेस शुरू कर दिया है। इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 9 मार्च को कहा था कि नीरव के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर यूके के गृह सचिव ने वहां की अदालत में कानूनी प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है। सीबीआई ने एक दिन पहले ही कहा है कि नीरव के प्रत्यर्पण मामले पर नजर रखी जा रही है। 

क्या है पीएनबी घोटाला?

  • अरबपति डायमंड कारोबारी नीरव मोदी और उसके साथियों ने साल 2011 में बिना तराशे हुए हीरे आयात करने को लाइन ऑफ़ क्रेडिट के लिए पंजाब नेशनल बैंक की एक ब्रांच से संपर्क साधा।
     
  • आम तौर पर बैंक विदेश से आयात को लेकर होने वाले भुगतान के लिए LoU या लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग जारी करता है। इसका ये मतलब है कि बैंक नीरव मोदी के विदेश में मौजूद सप्लायर को 90 दिन के लिए भुगतान करने को राजी हुआ और बाद में पैसा नीरव को चुकाना था। लेकिन PNB के कुछ कर्मचारियों ने कथित तौर पर नीरव मोदी की कंपनियों को फर्ज़ी LoU जारी किए और ऐसा करते वक़्त उन्होंने बैंक मैनेजमेंट को अंधेरे में रखा। इन्हीं फ़र्ज़ी LoU के आधार पर भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं ने पंजाब नेशनल बैंक को लोन देने का फ़ैसला किया।

     
  • इसके बाद 2018 में खबर आई कि नीरव पीएनबी को 14 हजार करोड़ का चूना लगाकर फरार हो गया है। तब से सीबीआई और ईडी उसकी तलाश में थी। नीरव मोदी के खिलाफ मुंबई में मामला भी दर्ज है। मुंबई की विशेष अदालत ने हाल ही में नीरव मोदी की पत्नी एमी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया है।

     
  • इससे पहले पीएनबी घोटाले में ईडी ने नई चार्जशीट दायर की थी। इसमें पहली बार एमी का नाम भी शामिल करते हुए उसे आरोपी बनाया गया था।

लुक बदलकर घूम रहा था नीरव मोदी
14 हजार करोड़ के पीएनबी घोटाले का आरोपी नीरव मोदी पिछले दिनों लंदन की सड़कों पर अपना लुक बदलकर बेखौफ घूमता दिखा था। उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो चुका है। लंदन की सड़कों पर घूमते नीरव मोदी का वीडियो सामने आने के बाद मोदी सरकार एक्टिव हो गई थी और उसने इंग्लैंड सरकार पर आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की थी।


लंदन में 72 करोड़ रुपए के अपार्टमेंट में रह रहा था नीरव
टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव लंदन के वेस्ट एंड इलाके में 72 करोड़ रुपए के अपार्टमेंट में रह रहा था। रिपोर्ट के मुताबिक वह हर महीने इस अपार्टमेंट का 15.5 लाख रुपए किराया चुका रहा था। नीरव मोदी का जब वीडियो वायरल हुआ था था खबर थी कि वह लंदन में हीरे का बिजनेस कर रहा है।


नीरव मोदी की जैकेट रही चर्चा में
नीरव मोदी को जब इंग्लैंड में देखा गया तो इस दौरान वह पिंक शर्ट, ब्लैक लैदर की जैकेट और सफेद दाढ़ी व मूंछों में दिखा। इस दौरान सोशल मीडिया पर उसकी जैकेट छा गई। यह कोई आम लैदर जैकेट नहीं बल्कि शुतुरमुर्ग के चमड़े से बनी जैकेट है जिसकी कीमत 10 हजार पाऊंड (9 लाख 11 हजार रुपए) बताई जा रही है। अमेरिकन ऑस्ट्रिच एसोसिएशन के अनुसार शुतुरमुर्ग का चमड़ा दुनिया में सबसे महंगा चमड़ा है।

Related Stories:

RELATED सुंदरनगर में बस ऑपरेटरों का पंगा