दुनिया के सबसे बड़े हैकथॉन को संबोधित करेंगे PM मोदी, 2 लाख छात्र लेंगे भाग

नेशनल डेस्क: दुनिया का सबसे बड़ा हैकथॉन ‘स्मार्ट इंडिया हैकथॉन’ का फाइनल दो मार्च को देश के 48 केन्द्रों पर होगा जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये एक साथ संबोधित करेंगे। इस हैकथॉन का फाइनल देश के 17 राज्यों में आयोजित किया जाएगा और विजेताओं को 1,00,000 रुपये से लेकर 50,000 रुपये तक के पुरस्कार दिये जाएंगे। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नेतृत्व में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा आयोजित इस तीसरे हैकथॉन में 2,00,000 से अधिक छात्र भाग ले रहे हैं जो पहले हैकथॉन से पांच गुना अधिक बड़ा है। पहले हैकथॉन में 40,000 छात्रों ने भाग लिया था। 



मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने इस अवसर पर एक वीडियो संदेश भी जारी किया जिसमें उन्होंने बताया कि किस तरह यह हैकथॉन नवाचार और मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देकर इसे सफल बना रहा है इस तरह प्रधानमंत्री मोदी के देश के विकास का सपना पूरा हो रहा है। उच्च शिक्षा सचिव आर. सुब्रमण्यम और ए.सी.आई.टी.सी. के अध्यक्ष डॉ अनिल सहस्त्रबुद्धे ने पत्रकारों को बताया कि दुनिया के किसी देश में इतना बड़ा हैकथॉन कहीं नहीं आयोजित किया जाता है। 


भारत में यह इतना इतना लोकप्रिय होता जा रहा है कि तीन साल के भीतर ही इसका पांच गुना विस्तार हुआ। इस बार उद्योग जगत ने इसमें भागीदारी की है इसमें 34,000 से अधिक टीमें भाग ले रही हैं और 52,000 से अधिक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई, 500 से अधिक प्रॉब्लम्स प्राप्त हुए। सॉफ्टवेयर संस्करण का फाइनल दो-तीन मार्च को होगा जिसमें 1300 से अधिक टीमें 48 विभिन्न केन्द्रों पर 36 घंटे लगातार प्रॉब्लम्स को सुलझाएंगे। 


फाइनल में पहला पुरस्कार एक लाख रुपये, दूसरा पुरस्कार 75,000 रुपये और तीसरा 50,000 का होगा। जावडेकर ने बताया कि 17 राज्यों में ये केंद्र होंगे जिनमें सर्वाधिक सात तमिलनाडु में, पांच उत्तर प्रदेश में, कर्नाटक और महाराष्ट्र में चार-चार, केरल और आंध्र प्रदेश में दो-दो केंद्र शामिल है। इसके अलावा बिहार बंगाल पश्चिम पंजाब गुजरात दिल्ली असम आदि में भी ये केंद्र शामिल हैं। उन्होंने बताया कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान परमाणु ऊर्जा विभाग, इंडियन ऑयल से लेकर टाटा, बजाज, अपोलो आदि ने भी अपने प्रॉब्लम्स सुलझाने के लिए दिए हैं। 

Related Stories:

RELATED स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन का तीसरा संस्करण