स्वास्थ्य से खिलवाड़ : गंदगी के माहौल में तैयार होता है गुड़ और शक्कर

जालंधर(महेेश):जिस गुड़ और शक्कर को हम स्वास्थ्य की दृष्टि से सही मानते हैं। क्या कभी किसी ने उसको बनते हुए देखा? गंदगी के माहौल में तैयार होते गुड़ और शक्कर से लोगों के स्वास्थ्य से सीधा खिलवाड़ किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की चैकिंग का खौफ न होने के कारण गन्ने के रस से गुड़ और शक्कर तैयार करने वाले लोग सफाई व्यवस्था की तरफ ध्यान नहीं देते। होशियारपुर रोड पर अड्डा कठार के नजदीक और जालंधर में तल्हण रोड पर कई जगह गन्नों के रस से गुड़ और शक्कर तैयार हो रहे हैं। सफाई न होने से मक्खियां भिनभिना रही हैं और यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

वहीं, जब आप मशीन पर पड़ी हुई बेशुमार गंदगी व बिना सफाई किए हुए गन्नों से रस निकलता हुआ देखेंगे तो आप इसे पीने से परहेज ही करेंगे। वहीं गुड़ बनाने में जिस प्लास्टिक के टब में रस डाला जाता है, उसे भी कभी साफ नहीं किया जाता। मशीन पर घुमती मक्खियों व जमी हुई गंदगी के माहौल में निकाले गए रस की चासनी तैयार करने के लिए उसे कढ़ाही में डाल दिया जाता।

रसायन का प्रयोग 
गुड़ बनाने वाले रसायनों का प्रयोग करते हैं क्योंकि अगर वह किसी वनस्पति या औषधि का प्रयोग करे तो उसको मेहनत अधिक करनी पड़ती है और इसके बावजूद ग्राहक नहीं खरीदता है। आज के ग्राहक को चमकदार गुड़ ज्यादा भाता है और वह उसी को खरीदता है इसलिए रसायन का प्रयोग हो रहा है जो सेहत के लिए घातक है। 

गन्ने के रस के फायदे 
गन्ने का रस पेट, दिल, दिमाग, आंखों के लिए लाभदायक है। थका-हारा इंसान अगर एक गिलास गन्ने का रस पी ले तो थकान दूर हो जाती है। इसमें कैल्शियम, पोटाशियम, आयरन जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह हमें बहुत सारी बीमारियों से भी बचाता है, उनमें कैंसर एवं हृदय रोग प्रमुख हैं। 

Related Stories:

RELATED पार्टी के दौरान तबीयत खराब, मौत