ग्रामीणों ने SDM को सौंपा ज्ञापन, शराब का ठेका न हटाया तो करेंगे चक्का जाम

भोरंज: उपमंडल के बस्सी से मनोह सड़क मार्ग पर खतरवाड़ गांव के मंदिर व रिहायशी आबादी के बीचोंबीच खुले शराब के ठेके को हटाने के लिए स्थानीय ग्रामीण व पंचायत प्रतिनिधि लामबंद हो गए हैं। इसे लेकर महिला मंडल, पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने भोरंज एस.डी.एम. कार्यालय अधीक्षक के माध्यम से एस.डी.एम. को ज्ञापन सौंपा। सोमवार को टिक्करी मिन्हासां पंचायत प्रधान रेखा देवी सहित 50 से अधिक महिलाओं व पुरुषों ने शराब के ठेके को गांव के बीच में खोलने का कड़ा विरोध जताया।

होली के दिन युवक कर चुके हैं मारपीट व गाली-गलौच

ग्रामीणों ने कहा कि शराब का ठेका गांव व रिहायशी मकानों और गांव के शिव मंदिर के साथ होने से लोग तंग हो गए हैं। होली के दिन भी शराब के नशे में 3-4 युवकों ने गांव के एक रिहायशी मकान के बरामदे में बैठकर शराब पीना शुरू की। जब उन्हें ऐसा करने से रोका गया तो उन्होंने मारपीट व गाली-गलौच करना शुरू कर दिया। उन्होंने मांग की कि शराब के ठेके को किसी दूसरी जगह बदला जाए। ऐसा न करने पर ग्रामीण व पंचायत प्रतिनिधि चक्का जाम करेंगे। इसके बारे में स्थानीय पंचायत प्रधान रेखा देवी का कहना है कि खतरवाड़ में खोला गया शराब का ठेका रिहायशी मकानों और गांव के मंदिर के साथ है। इसे यहां से बदलने के लिए एस.डी.एम. भोरंज से मांग की गई है।

क्या बोले एस.डी.एम.

एस.डी.एम. भोरंज राहुल चौहान ने कहा कि खतरवाड़ के ठेके को अगर पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने रिहायशी आबादी से हटाने की मांग की है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Related Stories:

RELATED ठेका शराब सहित 1 गिरफ्तार