SC/ST की नाैकरी पर दलित बनकर कब्जा कर रहे सामान्य जाति के लोग

बुलंदशहरःबेराेजगारी के इस दाैर में एससी-एसटी वर्ग की नाैकरी काे सामान्य वर्ग के लाेगाें द्वारा फर्जी सर्टिफिकेट बनवाकर कब्जा किया जा रहा है। जी हां, एेसा एक मामला यूपी के बुलंदशहर से सामने आया है। 

यहां कमिशन के पास शिकायत आई है कि बुलंदशहर के सिकंदराबाद ब्लॉक के एक सरकारी स्कूल में गुंजन नाम की एक टीचर के रेकॉर्ड में गड़बड़ी है। एचआरडी मिनिस्ट्री के तहत आने वाले नैशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एजुकेशनल ऐंड प्लानिंग (न्यूपा) के रेकॉर्ड के मुताबिक यह टीचर अनुसूचित जाति (एससी) कैटिगरी के तहत कार्यरत हैं। जबकि आरटीआई के जवाब में बुलंदशहर के ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर (बीएसए) ने बताया है कि यह टीचर सामान्य कैटिगरी के तहत नौकरी पर तैनात हैं। एक दूसरी आरटीआई के जवाब में यह भी पता चला है कि इनके पिता खुद सामान्य कैटिगरी के तहत नौकरी कर रहे हैं। जब एनबीटी ने बुलंदशहर के बीएसए से इस संबंध में उनका पक्ष जानना चाहा तो कई कोशिशों के बाद भी उन्होंने जवाब देने से मना कर दिया। 

DM को दिया गया है जांच के आदेशः कठेरिया 
इस मामले काे लेकर एससी कमिशन के चेयरमैन रामशंकर कठेरिया से बात की गई ताे उन्हाेंने बताया कि इस मामले पर उन्होंने बुलंदशहर के डीएम को जांच के आदेश दे दिए हैं। कठेरिया ने कहा कि यह कोई पहला मामला नहीं है जहां सामान्य जाति के लोग दलितों के लिए आरक्षित सीट पर झूठे सर्टिफिकेट बनवाकर कब्जा किए हुए हैं। उन्होंने बताया कि कुछ दिनों पहले मथुरा से भी इस तरह की शिकायत आई थी जिस मामले में भी जांच चल रही है। 

SC/ST के साथ दाेहरा अन्यायः कठेरिया 
कठेरिया ने कहा कि एक तरफ प्राइमरी स्कूलों से लेकर यूनिवर्सिटी तक अनुसूचित जाति के कई पद खाली पड़े हैं और दूसरी तरफ उनके लिए आरक्षित सीटों पर भी गलत तरीके से सामान्य जाति के लोगों का नौकरी लेना उनके साथ दोहरा अन्याय है। 

Related Stories:

RELATED सवर्णों का विरोध जारी, सीएम हाउस का आज करेंगे घेराव