अरविंद केजरीवाल तानाशाही नेता : परमिंद्र ढींढसा

बरनाला(विवेक सिंधवानी,गोयल):जो पार्टी अपने विधायकों को ही संभाल कर नहीं रख सकती वह पंजाब का क्या भला करेगी। यह शब्द पंजाब के पूर्व वित्त मंत्री परमिंद्र सिंह ढींढसा ने गांव ठीकरीवाल में महान शहीद सेवा सिंह ठीकरीवाल को श्रद्धांजलि देने उपरांत पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहे।

उन्होंने कहा कि आप के विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा देकर अपनी अलग से पार्टी बना ली है। केजरीवाल अपने थोड़े से विधायकों को भी एकजुट नहीं रख सकते तो वह क्या करेंगे। केजरीवाल तो तानाशाही नेता हैं। हर समय वह तानाशाही रवैया अपनाते हैं। किसी भी मामले में वह किसी की कोई सलाह नहीं लेते। अपनी मर्जी ही वह पार्टी वर्करों पर चलाते हैं। पंजाब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी मामले संबंधी पूछने पर उन्होंने कहा कि अकाली दल इसके लिए जिम्मेदार नहीं, विरोधी पार्टियों द्वारा यह दुष्प्रचार किया जा रहा है। अकाली दल ने हमेशा ही सिख पंथ के लिए लड़ाई लड़ी है।

Related Stories:

RELATED Baljinder Kaur से सुनो शादी में क्यों नहीं आए Arvind Kejriwal