पाकिस्‍तानी रुपए की कीमत गिरी तो शख्‍स ने जला दिया अपना US डॉलर

पेशावरः पाकिस्तान पिछले 17 साल के इतिहास में सबसे बुरे आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। अर्थव्यवस्था का ये हाल है कि पाक का रुपया एशिया की सबसे कमजोर करंसी में शामिल हो गया है जिसके चलते एक अमेरिकी डॉलर की कीमत 154 पाकिस्तानी रुपए के बराबर हो गई है। रुपए की इस गिरती कीमत के विरोध में पाकिस्तान के एक शख्स ने अमेरिकी  डॉलर जला डाला।


टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद की एक खबर के अनुसार, पाकिस्तान के गुंजरावाला शहर में रहने वाले अमजद नाम के शख्स ने मीडिया के सामने अपने US डॉलर में आग लगा दी। अमजद ने यह कदम पाकिस्तानी रुपए को अमेरिकी डॉलर की तुलना में मजबूत बनाने के उद्देश्य से यह कदम उठाया। अमजद का कहना है कि मैंने अपने डॉलर में आग इसलिए लगाई ताकि देश की अर्थव्यवस्था को स्थायी किया जाए। अमजद ने पाकिस्तान के सभी लोगों से यूएस डॉलर में ट्रेडिंग बंद करने की अपील की, ताकि डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया मजबूत हो सके।

बता दें कि पाकिस्तान कर्ज के बोझ तले बुरी तरह दबा हुआ है और उसका विदेशी मुद्रा भंडार काफी नीचे चला गया है। हालात ये है कि पाकिस्तान अपने कर्ज की किस्तों की अदायगी भी करने में सक्षम नहीं है। पाकिस्तान में महंगाई काफी ज्यादा बढ़ गई है। यही वजह है कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए इमरान खान सरकार ने कई देशों से कर्ज लिया है, जिनमें चीन, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं।

हालांकि इन देशों से कर्ज लेने के बाद भी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं आ सकी है और इसी वजह से अब पाकिस्तान की सरकार ने 6 बिलियन डॉलर के कर्ज के लिए IMF (इंटरनेशनल मोनेटरी फंड) का दरवाजा खटखटाया है। ऐसी खबरें हैं कि IMF ने पाकिस्तान कर्ज देने को हरी झंडी दे दी है, लेकिन इसके बदले में उसने पाकिस्तान पर कई कड़ी शर्तें लगाई हैं। ऐसी खबरें हैं कि IMF को बैक करने वाला अमेरिका, कर्ज के बदले पाकिस्तान से चीन-पाकिस्तान इकॉनोमिक कॉरिडोर से जुड़ी जानकारियां मांग रहा है।

Related Stories:

RELATED 1 रुपए का सिक्का, बदल सकता है आपके जीवन का किस्सा